उत्तराखंड: युवाओं को वोटिंग के लिए प्रेरित करेंगे पवनदीप राजन, मिली ये जिम्मेदारी

देहरादून: इंडियन आइडल-12 के विजेता पवनदीप राजन को हाल ही में उत्तराखंड सरकार ने कला, संस्कृति और पर्यटन का ब्रांड एंबेस्डर बनाया था। अब उनको राज्य निर्वाचन आयोग ने उन्हें आइकन बनाया है। पवनदीप राजन 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में मतदाताओं को शत-प्रतिशत मतदान के लिए प्रेरित करेंगे। जिला सहायक निर्वाचन अधिकारी नैन सिंह बोहरा ने बताया कि पवनदीप के निर्वाचन आइकन बनने से प्रदेश के सभी जिलों में मतदाताओं को जागरूक कर उन्हें शत प्रतिशत मतदान के लिए प्रेरित करेंगे।

पवनदीप राजन की लोकप्रियत इन दिनों आसमान पर है। देश ही नहीं, बल्कि दुनियाभर में संगीत प्रेमियों की पहली पसंद बने हैं। उनको देश और दुनिया के कई देशों में शो बुक हो रहे हैं। लगातार उनको ऑफर मिल रहे हैं। वहीं, उत्तराखंड सरकार भी अपने इस युवा कलाकार को प्रोत्साहन के साथ ही जिम्मेदारी भी दे रही है।

पवनदीप राजन का जन्म वर्ष 1996 में चम्पावत जिले के वल्चौड़ा गांव गुमदेश पट्टी में हुआ था। उनकी शिक्षा दीक्षा जिले में ही हुई। बचपन से ही उनकी रूचि संगीत में थी। पवनदीप राजन प्रसिद्ध कुमाऊंनी लोकगायक सुरेश राजन के बेटे हैं। वे चंडीगढ़ के रॉक बैंड समूह से जुड़े है। पवनदीप अपनी जादुई आवाज और सुरों से बॉलीवुड के प्रसिद्ध सिंगर्स को लुभा चुके हैं।

पवनदीप राजन कुमाऊंनी, गढ़वाली, पंजाबी एलबम आदि में भी प्लेबैक सिंगिंग भी करते हैं। पवन ने चम्पावत के अपने घर में ही स्टूडियो खोला है। पवनदीप राजन वर्ष 2015 में एंड टीवी के द वॉइस इंडिया के पहले सत्र के विजेता भी रह चुके हैं। पवनदीप इससे पूर्व कई संगीत शो करने के साथ ही कोविड-19 को लेकर चलाए गए जागरूकता अभियान में सहभागिता कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here