उत्तराखंड: राजनीति का चस्का, इस IFS अधिकारी ने छोड़ दी नौकरी!

देहरादून: 2022 में राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं। राजनीति दल चुनावी तैयारियों में जुटे हैं। दलों के अलावा कई ऐसे लोग भी हैं, जो निर्दलीय ही चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं। राजनीति में आने का चस्का जिसको लग जाता है, फिर उनको रोक पाना कठिन होता है। राजनीति के लिए कई IAS और अन्य अधिकारी नौकरी को ठोकर मार चुके हैं। ऐसा ही मामला उत्तराखंड में भी सामने आया है।

मीडिया रिपोर्टाें की मानें तो राजनीति के लिए एक वरिष्ठ IFS अफसर ने नौकरी को ही अलविदा कर दिया। जानकारी के अनुसार CCF सनातन सोनकर ने रिटायरमेंट से छह माह पहले ही VRS ले लिया है। उनका लक्ष्य है कि वे आगामी विधानसभा चुनाव लड़ सकें। लंबे समय से जलागम में प्रतिनियुक्ति पर तैनात आईएफएस सनातन सोनकर ने वन विभाग के सिस्टम को लेकर भी नाराजगी जताई है।

IFS अफसर सनातन सोनकर मूल रूप से यूपी के रहने वाले हैं। वर्तमान में देहरादून के वसंत विहार क्षेत्र में रहते हैं। उनकी हरिद्वार से चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। सनातन सोनकर ने कुछ समय पूर्व ही अपने वीआरएस को लेकर शासन को आवेदन भेजा था। उन्होंने व्यक्तिगत कारणों से नौकरी छोड़ने की बात कही थी। इस पर शासन ने उनके VRS को मंजूरी दे दी। वे 31 अक्टूबर को रिटायर हो जाएंगे।

सनातन ने बताया कि वह अब हरिद्वार से चुनाव की तैयारी में हैं। उन्होंने बताया कि वे लंबे समय से राज्य में मानव-वन्यजीव संघर्ष और स्थानीय लोगों की फसलों को जंगली जानवरों से नुकसान को रोकने के लिए ठोस योजना बनाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन विभाग में रहते ऐसा हो नहीं पाया, अब वे रिटायरमेंट के बाद करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here