मौसम को लेकर जारी हुआ अलर्ट, 19 और 20 मई को बहुत भारी बारिश की चेतावनी

 

उत्तराखंड में मौसम को लेकर सरकार ने बड़ा अलर्ट जारी किया है। सरकार ने दो दिनों के रेड अलर्ट जारी किया है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने 19 और 20 तारीख को राज्य के कई पर्वतीय इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इस संबंध में राज्य के सभी जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर सूचित किया है और आवश्यक व्यवस्थाएं दुरुस्त रखने के लिए कहा है।

मौसम विभाग की ओर से जारी अलर्ट के अनुसार राज्य में मौसम का तारीखवार अलर्ट जारी हुआ है।

17 मई  – उत्तराखंड राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में कही-कही बहुत हल्की से हल्की वर्षा/गर्जन के साथ वर्षा/बर्फबारी की संभावना व्यक्त की गई है। राज्य के मैदानी क्षेत्रों मौसम शुष्क रहेगा |

18 मई – उत्तराखंड राज्य के पर्वतीय इलाकों के अधिकांश स्थानों और राज्य के मैदानी इलाकों में अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा/गर्जन के साथ वर्षा या बर्फबारी हो सकती है।

19 मई – राज्य के देहरादून, टिहरी, उत्तरकाशी, चमोली, बागेश्वर, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में कही कहीं भारी बारिश होने की आशंका है। कई इलाकों में बिजली चमकने और तेज बौछारें पड़ सकती हैं। पर्वतीय जिलों में ओले भी पड़ सकते हैं। इसके साथ ही 30 से 40 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं भी चल सकती हैं।

20 मई – राज्य के देहरादून, उत्तरकाशी, चमोली, बागेश्वर, रुद्रप्रयाग, नैनीताल और पिथौरागढ़ में कही कहीं बहुत भारी बारिश होने की आशंका है। कहीं कहीं तेज बारिश के साथ ही 30 – 40 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलेंगी तो कुछ इलाकों में बिजली भी चमकने की आशंका है।

21 मई – इस तारीख के लिए कोई अलर्ट नहीं है।

19 और 20 मई को राज्य के संवेदनशील इलाकों में भूस्खलन और चट्टान गिरने की आशंका है। इसके चलते कहीं कहीं सड़कें अवरुद्ध हो सकती हैं। इसके साथ ही नदी, नालों के ऊफान पर आने की संभावना है इसके चलते आसपास की रहने वालों को सतर्क रहने की जरूरत है।

राज्य आपदा प्राधिकरण ने जिलाधिकारियों को भेज पत्र में प्रत्येक स्तर पर तत्परता रखते हुए सावधानी, सुरक्षा और आवागमन में नियंत्रण बरतने के लिए कहा है। आपदा प्रबंधन के नामित अधिकारियों और विभागीय नोडल अधिकारियों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। मोटर मार्ग के बाधित होने पर उसे तुरंत खुलवाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही स्पष्ट रूप से कहा गया है कि किसी भी अधिकारी, कर्मचारी का मोबाइल स्विच ऑफ नहीं रहेगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here