उत्तराखंड : गर्भवती महिला और जुड़वा बच्चों की मौत के मामले ने पकड़ा तूल, सरकार का पुतला दहन

रामनगर- पीपीपी मोड संचालित रामनगर संयुक्त चिकित्सालय में बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं के कारण डॉक्टर व स्टाफ की लापरवाही से गर्भवती महिला की मौत पर आक्रोशित रामनगर कांग्रेस जन ने नगर अध्यक्ष डीसी हर्बोला के नेतृत्व में उत्तराखंड सरकार का पुतला दहन किया। ब्लॉक अध्यक्ष देशबन्धु रावत ने कहा कि स्वास्थ्य केंद्र देवायल में एक महिला निवासी ग्राम देवायल सल्ट,अल्मोड़ा की रहने वाली अपनी डिलीवरी कराने गई जिसके पेट में दो जुड़वा बच्चे स्वस्थ थे. स्वास्थ्य केंद्र देवालय की लापरवाही से 1 घंटे तक कोई जवाब नहीं दिया गया. आऱोप है कि उसके बाद गर्भवती के परिजनों ने अस्पताल कर्मचारियों से पूछताछ की लेकिन कोई जवाब नहीं दिया गया और ना ही गर्भवती की जांच ही की गई।

आरोप लगाया है कि ना एंबुलेंस की सुविधा मुहैया कराई गई जिसके कारण गर्भवती को उसके परिजनों द्वारा निजी एंबुलेंस के माध्यम से रामनगर सयुक्त चिकित्सालय लाया गया। परंतु यहां भी डॉक्टर व स्टाफ की लापरवाही के कारण 30 मिनट तक गर्भवती की कोई जांच नहीं की गई एवं परिजनों द्वारा पूछे जाने पर भी डॉक्टर व अस्पताल के कर्मचारियों द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया औऱ गर्भवती के परिजनों द्वारा यूरिन पाइप बदलने को कहा गया लेकिन अस्पताल कर्मचारी द्वारा मना कर दिया गया। कहा गया कि गर्भवती को अस्पताल से ले जाइए उन्होंने कहा कि संयुक्त चिकित्सालय रामनगर से उनको एंबुलेंस की कोई सुविधा भी नहीं दी गई जिससे परेशान होकर गर्भवती के परिजनों ने निजी एंबुलेंस द्वारा हल्द्वानी सुशीला तिवारी अस्पताल जाने का निर्णय किया लेकिन बेलपड़ाव पहुंचकर गर्भवती महिला ने दम तोड़ दिया। जिसके पश्चात गर्भवती महिला को वापस रामनगर से चिकित्सालय लाया गया जहां डॉक्टरों ने गर्भवती महिला को मृत घोषित कर दिया।

इस पूरे प्रकरण में स्वास्थ्य केंद्र देवायल एवं रामनगर सयुंक्त चिकित्सालय के डॉक्टरों व अस्पताल कर्मचारियों के घोर लापरवाही के कारण गर्भवती महिला की मृत्यु हो गई। इसके लिए पूर्ण रूप से स्वास्थ्य केंद्र देवायल एवं रामनगर संयुक्त चिकित्सालय के डॉक्टर व अस्पताल कर्मचारी जिम्मेदार हैं। सभी कांग्रेसजन ने मांग की गर्भवती महिला की मौत की उच्चस्तरीय जांच हो एवं रामनगर संयुक्त चिकित्सालय को पीपीपी मोड से तुरंत हटाया जाए एवं जिम्मेदार डॉक्टर एवं स्टाफ के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

पुतला दहन करने वालों में जिला उपाध्यक्ष अनिल अग्रवाल खुलासा महिला कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष सतेश्वरी रावत, पूर्व महिला कांग्रेस नगर अध्यक्ष बिना रावत, कांग्रेस महिला नेत्री ममता आर्य, ताईफ खान, एनएसयूआई राष्ट्रीय मीडिया कोऑर्डिनेटर मोहम्मद हाशिम, गोपाल रावत, अतुल अग्रवाल, सन्दीप रावत, नवीन तिवारी, नजाकत अली, मौ गुलफाम, मौ शाहिद, कैलाश त्रिपाठी, विनय पडलिया, पंकज पान्डे, लीलाधर जोशी आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here