बड़ी खबर। कोई नाराज नहीं, सीएम त्रिवेंद्र मजबूती से बने रहेंगे

 

देहरादून से उठे सियासी गुबार का दम दिल्ली में निकल गया है। उत्तराखंड में सरकार में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों पर फिलहाल विराम लग गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की कुर्सी पर फिलहाल कोई खतरा नहीं है। दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ हुई लंबी मुलाकात के बाद आखिरकार सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत की कुर्सी पर आया संकट टल गया है।

दिन भर के घटनाक्रम के बाद रात तकरीबन साढ़े दस बजे बीजेपी के विधायक मुन्ना सिंह चौहान ने दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत की है। इस बातचीत में मुन्ना सिंह चौहान ने दावा किया है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत मजबूती से सीएम बने रहेंगे और अपना काम करते रहेंगे।

मुन्ना सिंह चौहान ने कहा है कि वो पार्टी अध्यक्ष और सीएम के बीच हुई बातचीत का ब्यौरा नहीं दे सकते हैं और ये आवश्यक भी नहीं है। मुन्ना सिंह चौहान के मुताबिक देहरादून में विधायकों की कोई बैठक नहीं बुलाई गई है। वहीं मुन्ना ने कहा है कि सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत मंगलवार को दिन में लगभग ग्यारह बजे के करीब देहरादून पहुंचेंगे। मुन्ना सिंह चौहान की माने तो मुख्यमंत्री को लेकर किसी को कोई नाराजगी नहीं है। न कोई कार्यकर्ता नाराज है और न कोई नेता। मुन्ना सिंह चौहान ने कहा है कि सरकार के कामकाज से भी किसी को कोई नाराजगी नहीं है।

पूरे दिन चले घटनाक्रम के दौरान मुन्ना सिंह चौहान पूरे समय मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ ही रहे। उनके साथ ही वो कई जगहों पर आते जाते रहे।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत शाम सवा नौ बजे के करीब जेपी नड्डा से मिलने के लिए पहुंचे थे। दोनों के बीच तकरीबन आधे घंटे के आसपास बातचीत हुई। इसके बाद सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री आवास में वापस चले आए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here