आ गई महंत नरेंद्र गिरी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट, इस वजह से हुई मौत

संत समाज में आज देशभर में शोक की लहर है। सोमवार को अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी का निधन हो गया वो फंदे से लटके मिले और मौके पर 8 पन्नों का सुसाइड नोट भी मिला। बता दें कि महंत गिरी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है जिसमे फांसी पर लटकने से महंत नरेंद्र गिरी की मौत का खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि गले के चारों ओर एक संयुक्ताक्षर का निशान पाया गया। किसी तरह की एंटी मॉर्टम इंजरी नहीं। फांसी के कारण दम घुटने’ को प्रथम दृष्टया मौत का कारण बताया गया है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में साफ हुआ मौत का कारण

आपको बता दें कि महंत गिरी के विसरा को विश्लेषण के लिए सुरक्षित रखा गया है। अभी तक हत्या की आशंका भी जताई जा रही थी लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ हुआ है उनकी मौत फंदे पर लटकने और दम घुटने से हुई है। बता दें कि वारदात वाली जगह से जो सुसाइड नोट मिला था उसमें उन कारणों के बारे में बताया गया था जिसकी वजह से नरेंद्र गिरी को इतना बड़ा कदम उठाना पड़ा। उन्होंने आनंद गिरी को खास तौर पर इसका जिम्मेदार ठहराया।लिखा किवो उन्हें लड़की से साथ वीडियो एडिट कर वायरल करने की धमकी दे रहा था। बदनाम होने से अच्छा था आत्महत्या करना। सुसाइड नोट में लिखा कि कहां-कहां सफाई दूंगा इससे अच्छा चले जाना है।

मुझे जानबूझकर फंसाया जा रहा-आनंद गिरी

वहीं बता दें कि इस केस में नरेंद्र गिरी के शिष्य आनंद गिरी की गिरफ्तारी हुई जिसे दोपहर दो बजे अदालत में पेश किया जाएगा। उससे करीब 12 घंटे एसआईटी की टीम ने पूछताछ की थी और राज उगलवाने की कोशिश हुई। बताया जा रहा है कि उसने कहा कि हाल फिलहाल में उसका महंत जी से किसी तरह का विवाद नहीं था उसे जानबूझकर फंसाया गया है। आनंद गिरी ने बताया कि यह बात सच है कि कुछ मुद्दों पर उसका महंत जी से मतभेद था। लेकिन उसे दूर कर लिया गया था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट की प्रारंभिक रिपोर्ट के बाद अब सवाल यह है कि आखिर वो कौन सी वजह रही होगी जिसके बाद नरेंद्र गिरी ने अपनी जिंदगी को खत्म करने का फैसला किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here