नाइजीरिया के होटल में काम करने वाले टिहरी के युवक की संदिग्ध मौत, सरकार का शव भेजने से इंकार

टिहरी : उत्तराखंड के कई युवक अच्छी सैलरी के लिए विदेशों में नौकरी कर रहे हैं और परिवार का पालन पोषण कर रहेे हैं। लेकिन बता दें कि अब तक कई उत्तराखंड के युवकों की संदिग्ध मौतें भी वहां हुई है जिसका आज तक खुलासा नहीं हुआ है कि आखिर उनकी मौतें कैसे हुई। वहीं फिर से एक दुखद खबर उत्तराखंड के लिए विदेश से आई है। जी हां बता दें कि नाइजीरिया में एक होटल में काम करने वाले टिहरी के युवक जबर सिंह राणा की संदिग्ध मौत हो गई है जिससे परिवार में कोहराम मचा हुआ है। परिवार ने सीएम से मदद की गुहार लगाई है।

आपको बता दें कि नाइजीरिया के ताज रेस्टोरेंट में कार्यरत टिहरी जिले के जबर सिंह राणा पुत्र भाग सिंह राणा ग्राम रमोल सारी पट्टी नगुण तहसील कंडीसौड की संदिग्ध परिस्थितियोंमें मौत हो गई। उनके होटल के मालिक और नाइजीरिया की सरकार ने उसी बॉडी को वापस वतन भेजने में असमर्थता व्यक्त कर दी है। परिवार में इससे कोहराम मच गया है। परिवार वाले सरकार से मदद की गुहार लगा रहे हैं।

आपको बता दें कि सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी दर्शन भारती ने सीएम पुष्कर सिंह धामी से जबर सिंह राणा का शव भारत लाने के लिए मदद मांगी। उन्होंने सीएम को सौंपे पत्र में कहा कि जबर सिंह राणा के परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत खराब है। बेटा ही परिवार का पालन पोषण करता था जिसकी संदिग्ध मौत हो गई है। परिवार टिहरी गढ़वाल की अपने गांव में रहते हैं। कहा कि दुनिया भर के होटल में काम करने वाले भाइयों की तरफ से भी सीएम से निवेदन है कि जबर सिंह राणा के पार्थिव शरीर उत्तराखंड लाने के लिए भारत सरकार के विदेश मंत्रालय के सहयोग से उत्तराखंड में उनके गांव भेजने में अपनी भूमिका निभाएं। परिवार इस योग्य बिल्कुल नहीं है कि पार्थिव शरीर को उत्तराखंड ला सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here