देहरादून। बैंक अकाउंट से जुड़े SMS अलर्ट नंबर बदल ठगी करने वाले बैंक मैनेजर गिरफ्तार

STF ARRESTED CENTRAL BANK MANAGERS

 

देहरादून में एसटीएफ और साइबर क्राइम पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है। टीम ने सेंट्रल बैंक के दो अधिकारियों को फर्जी तरीके से 12 लाख रुपए की ठगी के मामले में गिरफ्तार कर लिया है। इसके पहले भी टीएम तीन बैंक अधिकारियों को गिरफ्तार कर चुके हैं।

दरअसल हाल ही में देहरादून के सेलाकुई की रहने वाली एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई थी कि उसके सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के अकाउंट से 12 लाख रुपए फर्जी तरीके से निकाल लिए गए। इस मामले में एसटीएफ और साइबर टीम ने जांच की तो पता चला कि बैंक के अधिकरियों की मिलीभगत से महिला के एसएमएस अलर्ट के लिए दर्ज मोबाइल नंबर बदल दिया गया। इसके बाद बैंक अधिकारियों ने महिला के खाते से 12 लाख रुपए ट्रांसफर कर लिए।

VIVO ने 63 हजार करोड़ से अधिक रकम गैरकानूनी तरीके से भेजी चीन, ED का खुलासा

केस की तहकीकात करते हुए एसटीएफ और साइबर सेल की टीम ने बैंक के अधिकारियों की तलाश शुरु की। टीम ने पहले ही तीन अधिकारियों को हिरासत में ले लिया गया था। इस केस में पुलिस टीम ने दो और बैंक अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें से एक देहरादून में गढ़ी कैंट का रहने वाला अनिरुद्ध थापा है जो सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में दिल्ली की एक शाखा में अस्सिटेंट बैंक मैनेजर है जबकि एक अन्य देहरादून में सेंंट्रल बैंक की शाखा का मैनेजर सनी गुलेरी है। सनी हिमाचल का रहने वाला है।

पुलिस टीम ने इस मामले में अब तक पांच लोगों की गिरफ्तारी की है। ये सभी सेंट्रल बैंक के कर्मचारी हैं। पुलिस अब ये पता लगाने में लगी है कि इन्होंने अन्य कितने लोगों के खातों से ऐसे ट्रांजेक्शन किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here