अब रोपवे से पहुंचेंगे केदारनाथ धाम, बोर्ड ने दी हरी झंडी, दो अन्य पर भी काम होगा शुरु

kedarnath ropeway

 

उत्तराखंड में तीन बड़े रोपवे प्रोजेक्ट को मंजूरी मिली है। राज्य वन्यजीव बोर्ड ने इन रोपवे को हरी झंडी दे दी है। अब इसका प्रस्ताव नेशनल वाइल्ड लाइफ बोर्ड को मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।

उत्तराखंड विकास की ओर एक और कदम बढ़ने वाला है। राज्य में तीन बड़े रोपवे बनाने की तैयारी हो रही है। इन तीनों प्रोजेक्ट को वाइल्ड लाइफ बोर्ड ने अपनी मंजूरी दे दी है। अब इनको नेशनल वाइल्ड लाइफ बोर्ड के सामने भेजा जाएगा। वहां से स्वीकृति मिलने के बाद इन तीनों परियोजनाओं पर काम शुरु हो जाएगा।

सीएम धामी की अध्यक्षता में हुई बोर्ड की बैठक में केदारनाथ, हेमकुंड साहिब और चंडीदेवी मंदिर के लिए रोपवे को हरी झंडी दे दी गई है। आपको बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ और हेमकुंड को रोपवे से जोड़ने का ऐलान किया था। इन्हीं ऐलानों पर आगे बढ़ते हुए उत्तराखंड सरकार ने पहल की है। इन तीनों रोपवे को हरी झंडी मिल गई है।

इसमें केदारनाथ का रोपवे सबसे अहम माना जा रहा है। ये रोपवे सोनप्रयाग से केदारनाथ धाम तक बनाया जाएगा। इस रोपव में स्टेशन गौरीकुंड, चीड़बासा, और लिंचौली बनाए जाएंगे। इस रोपवे के बन जाने के बाद केदारनाथ धाम तक श्रद्धालुओं की पहुंच बेहद आसान हो जाएगी। सोनप्रयाग से केदारनाथ पहुंचने का समय भी कम हो जाएगा। इसके साथ ही श्रद्धालुओं को सहूलियत भी होगी। इस रोपवे के निर्माण के बाद श्रद्धालुओं की संख्या में इजाफा होने की उम्मीद भी है। केदारनाथ रोपवे के निर्माण प्रोजेक्ट में 26.43 हेक्टेयर वनभूमि आ रही है।

कौन हैं महिला पायलट मोनिका खन्ना, जिनकी पूरे देश में हो रही चर्चा

इसके साथ ही हेमकुंड साहिब के लिए भी रोपवे निर्माण प्रक्रिया अब परवान चढ़ सकेगी। इस रोपवे के बनने के बाद हेमकुंड साहिब की यात्रा आसान हो जाएगी। श्रद्धालु आसानी से हेमकुंड साहिब तक पहुंच सकेंगे। इस रोपवे के प्रोजेक्ट में 27.4 हेक्टेयर वन भूमि आ रही है।

वहीं राज्य वन्यजीव बोर्ड ने हरिद्वार में हरक की पौड़ी से चंडीदेवी मंदिर तक रोपवे को भी हरी झंडी दे दी है। इसके लिए .29 हेक्टेयर वन भूमि आ रही है।

उत्तराखंड में पिछले कुछ सालों में पर्यटकों को सहूलियत देने के लिए कई विकास कार्य हुए हैं। इसी के तहत न सिर्फ सड़कें चौड़ी हो रही हैं बल्कि रेल कनेक्टिविटी पर भी काम हो रहा है। इसके साथ ही रोपवे निर्माण भी तेजी से हो रहें हैं। सुरकुंडा जी के लिए रोपवे का निर्माण पूरा हो चुका है और ये मौजूदा समय में काम भी कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here