उत्तराखंड में अफसरों की लापरवाही से यहां बदहाल हुईं सड़कें, घटिया डामरीकरण से करोड़ों रुपये बर्बाद

उधमसिंह नगर : उत्तराखंड में लोक निर्माण विभाग और ठेकेदारों की लापरवाही के चलते सड़कों की स्थिति बेहद खराब बनी हुई है। हालात यह हैं कि सड़कें करोड़ों रुपये खर्च करने के बाद भी बदहाल हैं। कही महज 12 घंटों में ही डामर उखड़ रहा है, इससे स्थानीय लोग परेशान हैं। वहीं बदहाल सड़कों पर दुर्घटनाओं का खतरा भी बना हुए है। लेकिन सरकारी तंत्र लापरवाह बना है।

किच्छा विधानसभा के पिपलिया मोड़ से धोरा डैम तक बनकर तैयार हुई सड़कों की गुणवत्ता पर अभी से सवाल उठने लगे हैं। करीब करोड़ की लागत से तैयार हुई सड़कें अभी से जगह-जगह उखड़ने लगी है। इसकी शिकायत भी लोगों ने लोनिवि के अफसरों से की है। डामरीकरण उखड़ने के अलावा लोगों ने डामर बिछाने के तरीके पर भी सवाल उठाए हैं। महजे एक दिन पहले बनी बनी सड़क उखड़ी रही है ।

सड़क के दोनों किनारों पर हाटमिक्स अभी से बिखरने लगा है। स्थिति यह है कि राहगीरों के पैरों की ठोकर से हाटमिक्स उखड़ रहा था। बकपुर प्रधान पति गुलसन सिंधी ने बताया कि सड़क के निर्माण की गुणवत्ता सही नहीं होने के कारण डामरीकरण के बावजूद सड़क पर चल रहे वाहनों में झटके लग रहे हैं।साथ ही कहाँ जगह-जगह रोड उखड़ने लगी है।जगह जहां सड़कें उखड़ी है वहां जल्द दोबारा निर्माण कराया जाएगा। साथ ही ठेकेदार को पेमेंट नही की जायेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here