मालकिन की जान लेने वाला पिटबुल कुत्ता नगर निगम की हिरासत में, देखा जा रहा नेचर

pitbull-dog lucknow story

 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अपनी ही मालकिन को नोच-नोचकर मारने वाले खूनी पिटबुल डॉग (Pitbull dog) को लखनऊ नगर निगम की नैतिक हिरासत में रखा गया है। लखनऊ नगर निगम के पशु डॉक्टर के मुताबिक,  शुरुआती 24 घंटे में पिटबुल का नेचर सामान्य रहा। इस दौरान ऐसा लग रहा था कि पिटबुल डॉग डरा हुआ है। बता दें कि अपनी ही मालकिन रिटायर्ड टीचर की हत्या के बाद खूनी पिटबुल को 14  दिन की नैतिक हिरासत में रखा गया है। इसी पिटबुल के हमले में बीते बुधवार को 82 साल की बुजुर्ग की मौत हो गयी थी।

इस घटना के बाद से ही ब्राउनी नाम का यह पिटबुल डॉग नैतिक हिरासत यानी सरकारी पिंजरे में है। लखनऊ नगर निगम के कारागार में खूनी पिटबुल एक कोने में बैठा हुआ दिखा ऐसा लग रहा हो मानों पिटबुल डरा हुआ है। नैतिक हिरासत के दौरान पशु डॉक्टर पिटबुल का बिहैवियर चेक करेंगे। 14 दिनों में पिटबुल का एक्शन या रिएक्शन कैसा रहता है। इस पर नगर निगम के एक्सपर्ट्स की पैनी नजर है। फिलहाल, नैतिक हिरासत में पिछले 24 घंटे में पिटबुल को जब खाना-पानी दिया गया, तब उसका व्यवहार सामान्य था। डॉग को दिए जाने वाले खाने को पिटबुल नहीं खाया, लेकिन चिकन का लेग पीस जब दिया गया तब खा लिया।

शानदार तस्वीर। भारतीय वायुसेना के इतिहास में पहली बार पिता – पुत्री ने एक साथ उड़ाया विमान

पशु कल्याण अधिकारी, लखनऊ नगर निगम के पशु कल्याण अधिकारी डॉ अभिनव वर्मा के मुताबिक, अगर 14 दिनों तक पिटबुल का व्यवहार ठीक रहता है तब इस पिटबुल को जो कोई भी लेना चाहेगा तो उसको दे दिया जाएगा। अगर व्यवहार सही नहीं रहता तब नगर निगम उसको अपने पास ही रखेगा। बता दें कि लखनऊ नगर निगम के अधिकारी के मुताबिक, पिटबुल को अपने पास घर मे रखने के लिए अमित त्रिपाठी के पास लाइसेंस था।

 

यही वजह है कि अमित त्रिपाठी के ऊपर अभी तक नगर निगम के द्वारा कोई मुकदमा नहीं कराया गया है। नगर निगम के अधिकारियों के मुताबिक पड़ोसियों ने भी कोई शिकायत नहीं दी है। लेकिन, जानकारों का मानना है कि लोगों को अग्रेसिव नेचर के कुत्ते नहीं पालने चाहिए। बहरहाल, ब्राउनी नाम का यह पिटबुल फिलहाल, 14 दिन की नैतिक हिरासत में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here