शानदार तस्वीर। भारतीय वायुसेना के इतिहास में पहली बार पिता – पुत्री ने एक साथ उड़ाया विमान

IAF SANJAY SHARMA ANANYA SHARMA

 

भारतीय वायुसेना के इतिहास में एक और नया अध्याय जुड़ गया है। भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) में पहली बार पिता और पुत्री की जोड़ी ने एक साथ विमान उड़ाया है।

दरअसल भारतीय वायु सेना में संजय शर्मा एअर कमोडोर हैं। उनकी बेटी अनन्या भी अब भारतीय वायु सेना में बतौर फ्लाइंग ऑफिसर ज्वाइन हो चुकी हैं।

एयर कमोडोर संजय शर्मा ने अपनी बेटी फ्लाइंग ऑफिसर अनन्या के साथ इन-फॉर्मेशन में उड़ान भरी।  इन दोनों ने कर्नाटक के बीदर में एक हॉक-132 एयरक्राफ्ट विमान उड़ाया। वायुसेना सूत्रों के अनुसार ये उड़ान 30 मई को हुई थी।

अच्छी खबर। अब केदारनाथ मंदिर के गर्भगृह में जा सकेंगे श्रद्धालु

इन दोनों की तस्वीरें सामने आने के बाद अब सोशल मीडिया पर ये तस्वीर खासी वायरल हो रही है। लोग पिता पुत्री की तारीफ कर रहें हैं और उन्हें शुभकामनाएं दे रहें हैं।

एअर कोमोडोर संजय शर्मा साल 1989 में भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों के बेड़े में शामिल किए गए थे। इन्हें लड़ाकू विमान उड़ाने का अच्छा अनुभव प्राप्त है। मिग-21 स्क्वाड्रन के साथ-साथ फ्रंटलाइन फाइटर स्टेशन की कमान संभाल चुके हैं। संजय शर्मा भारतीय वायु सेना के सबसे बेहतरीन पायलट और युद्धक योजनाकारों में से एक हैं।

संजय शर्मा की बेटी फ्लाइंग ऑफिसर अनन्या शर्मा ने दिसंबर 2021 में फाइटर पायलट के रूप में भारतीय वायुसेना ज्वॉइन किया था। पांच साल बाद भारतीय वायु सेना ने महिला पायलटों को अपने लड़ाकू स्क्वाड्रन में स्वीकार करना शुरू किया। फ्लाइंग ऑफिसर अनन्या शर्मा ने इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार में बीटेक की डिग्री ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here