देहरादून : क्या आपने देखा छलांग लगाने वाला सांप, वन विभाग की टीम ने किया रेस्क्यू

देहरादून : वन विभाग की टीम ने बीते दिन बुधवार को एक ऐसे सांप को रेस्क्यू किया जो की उ़ड़ता है।जी हां बता दें कि टीम ने हाथीबड़कला इलाके से दुर्लभ प्रजाति के सांप ब्रोंजबैक ट्री सांप को रेस्क्यू किया और उसे सुरक्षित जंगल में छोड़ा।

वन विभाग की रेस्क्यू टीम में शामिल विशेषज्ञ रवि जोशी और जितेेंद्र बिष्ट को हाथीबड़कला निवासी गायत्री सहगल ने जानकारी दी थी कि उनके घर में सांप निकला था। जानकारी मिलने पर रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची और सांप को पकड़ना चाहा तो सांप ने लंबी छलांग लगा दी। काफी जद्दोजहद के बाद रेस्क्यू टीम ने जैसे-तैसे सांप पकड़ा। पकड़ा गया सांप ब्रोंजबैक ट्री स्नेक था जो फिलहाल दून में दूसरी बार मिला है।

जानकारी मिली है कि ब्रोंजबैक ट्री स्नेक अमूमन घने जंगलों के बीच पेड़ों की डालियों पर रहता है। यह सांप एक डाली से दूसरे डाली के बीच लंबी छलांग लगा सकता है। इसकी वजह से इसे उड़ने वाला सांप भी कहा जाता है। ब्रोंजबैक ट्री स्नेक किसी भी प्रकार का खतरा महसूस होने पर अपना रंग भी  बदल लेता है। साथ ही बेहद पतला होने के कारण पेड़ की टहनियों में छिप जाता है। इसकी सिर चौड़ा और देह चपटी गोल होती है। अन्य सांपों की तुलना में इसकी आंखें थोड़ी बड़ी और पूंछ लंबी तार जैसी होती है।

ब्रोंजबैक ट्री स्नेक भारत के अलावा बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका और पाकिस्तान जैसे देशों में भी पाया जाता है। इसका पसंदीदा भोजन मेढ़क और छिपकली है। कोबरा, करैत जैसे जहरीले सांपों की तरह ब्रोंजबैक ट्री स्नेक जहरीला बिल्कुल नहीं होता है। इसके काटने का इंसान हो या अन्य जीवों पर कोई खास फर्क नहीं पड़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here