भाजपा के बागी ठुकराल बोले : मैं तो किराए के मकान में जा रहा हूं कुछ दिन बाद लौट आऊंगा

देहरादून। नाम वापसी के आखिरी दिन भाजपा-कांग्रेस के अधिकांश बागियों को पार्टियों ने मना लिया, लेकिन अब भी कई सीटों पर बागी पार्टियों के लिए मुसीबत बने हुए हैं।राज्य की 70 सीटों पर नामंकन वापसी के अंतिम दिन 95 उम्मीदवारों ने चुनावी अखाड़े से हटने का फैसला किया। अब इस नाम वापसी के बाद प्रदेश की 70 विधानसभा सीटों पर 632 उम्मीदवार मैदान में रह गए हैं।

बात करें रुद्रपुर विधानसभा सीट की तो रुद्रपुर से विधायक राजकुमार ठुकराल का टिकट कटने के बाद वो बागी हो गए थे और अपने समर्थकों से बातचीत करने के बाद उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ने का मन बनाया और वो उसमे कायम हैं। वहीं  भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल ने अपना नाम भी वापस नहीं लिया। राजकुमार ठुकराल किसी भी नेता के मनाने पर नहीं माने। ठुकराल ने कहा कि मेरे साथ अन्याय हुआ है इसलिए मैं अब चुनाव मैदान से हटने वाला नहीं हूं।

वहीं राजकुमार ठुकराल का एक और बयान सामने आया है जिसमे उन्होंने कहा कि बीजेपी मेरी राजनीतिक माता है. मैं किराए के मकान में जा रहा हूं कुछ दिन बाद लौट आऊंगा। राजकुमार ठुकराल ने एक बार फिर से बंपर वोटों से जीत हासिल करने का दावा किया है। राजकुमार ने कहा कि मैनें जो भी मुद्दे थे सब पर काम किया और निपटाया। वहीं उन्होंने कहा कि इस बार में ट्रांजिस्ट कैंप से लेकर शिवनगर तक जितनी कॉलोनी है जो दानपात्र की भूमिका में है उन्हें में मालिकाना हक दिलाना मेरा लक्ष्य है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here