बड़ी खबर : उत्तराखंड शिक्षा विभाग में बड़ा घोटाला, पौड़ी CEO को पद से हटाने की सिफारिश

पौड़ी गढ़वाल : उत्तराखंड के शिक्षा विभाग में बड़ा घोटाला सामने आया है। बता दें कि पौड़ी सीईओ यानी की मुख्य शिक्षा अधिकारी मदन सिंह रावत पर स्मार्ट क्लास यानी की ई लर्निंग के नाम पर सामग्री खरीद में घोटाले का आऱोप है। शिक्षा निदेशालय ने पौड़ी के मुख्य शिक्षा अधिकारी मदन सिंह रावत को पद हटाकर अन्यत्र स्थानांतरित/संबद्ध करने की सिफारिश की है।

मिली जानकारी के अनुसार महानिदेशक विद्यालीय शिक्षा आर मीनाक्षी सुंदरम की ओर से सचिव को पत्र लिखा गया है और पीड़ी सीईओ की शिकायत की गई है। पत्र में मीनाक्षी सुंदरम ने लिखा कि अशासकीय विद्यालय प्रबंधक एसोसिएशन ने 8 जनवरी को शिक्षा मंत्री को पत्र सौंपकर पौड़ी के मुख्य शिक्षा अधिकारी मदन सिंह रावत ने विधायक निधि से चैबट्टाखाल विधानसभा क्षेत्र के विद्यालयों में ई-लर्निंग(ई लर्निंग) के लिए खरीदी गई सामग्री में वित्तीय अनियमितता और तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी हरेराम यादव, मुख्य शिक्षा अधिकारी मदन सिंह रावत और अशासकीय विद्यालय पटल सहायक दिनेश गैरोला के विरुद्व भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज करने की अनुमति देने संबंधी प्रकरण के शासन में लंबित होने का उल्लेख करते हुए रावत को पद से हटाकर अन्यत्र स्थानांतरितत/संबद्ध करने का अनुरोध किया गया था। पत्र में कहा गया है कि शिक्षा मंत्री ने इस प्रकरण में अपेक्षित कार्रवाई की अपेक्षा की है।

गौर हो कि अशासकीय विद्यालय प्रबंधक एसोसिएशन ने 8 जनवरी को स्मार्ट क्लास की सामग्री खरीद में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए पौड़ी के मुख्य शिक्षा अधिकारी मदन सिंह रावत और जिला शिक्षा अधिकारी हरेराम यादव के खिलाफ शिक्षा विभाग को एक प्रतिवेदन सौंपा था। मामले की गंभीरता को देखते हुए शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने मीनाक्षी सुंदरम को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। वहीं जांच के बाद मुख्य शिक्षा अधिकारी मदन सिंह रावत, तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी हरेराम यादव और अशासकीय विद्यालय पटल सहायक दिनेश गैरोला को दोषी पाया गया था।इससे अधिकारियों में हलचल मच गई है और सभी को फैसले का इंतजार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here