दिल्ली में बैठकर उत्तराखंड में ठगी को अंजाम देता था बिहार का युवक, पुलिस ने किया गिरफ्तार

चंपावत की बनबसा पुलिस ने साइबर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। बनबसा पुलिस ने गैंग के सरगना को दिल्ली के एक कॉल सेंटर से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित युवक के पास से दर्जनों डायलर सेट, मोबाइल फोन, एटीएम, पेन कार्ड, सिम कार्ड, लैपटॉप सामान बरामद किया है। पुलिस ने कॉल सेंटर प्रबंधन को भी नोटिस भेजा है। पुलिस ने आरोपित को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

शुक्रवार को मामले का खुलासा करते हुए एसपी देवेंद्र पींचा ने बताया कि बनबसा के मीना बाजार सुनील पुत्र स्व. चन्द्रपाल ने बीती 12 जनवरी को थाने में शिकायत दर्ज कराई कि अज्ञात व्यक्ति का उसके पास फोन आया। उसने अपने आप को बैंक अधिकारी बताकर बैंक का काम होने की बात कही और क्रेडिट कार्ड का नंबर मांगकर धोखे से उसके खाते से 81996 रुपये निकाल लिए। पुलिस ने अज्ञात युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया।

बैंक नोडल से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने फैज आलम पुत्र रहमत उल्लामियां निवासी ग्राम व पोस्ट अमलोरी जिला सिवान थाना सिवान बिहार व हाल निवासी मकान नंबर 19/55 फूटारोड भगवती गार्डन थाना मोहन गार्डन दिल्ली का लिप्त होना प्रकाश में आया। एसपी पिंचा ने बताया कि आरोपित की धरपकड़ के लिए साइबर सेल प्रभारी एसआइ सुरेंद्र खड़ायत के नेतृत्व में पुलिस टीम दिल्ली भेजी गई। जहां तीन मार्च को पुलिस ने युवक को दिल्ली स्थित उसके आवास से गिरफ्तार कर लिया। बाद में पुलिस ने आरोपित के दिल्ली स्थित प्लेटिनिम सर्विसेज नाम से बनी काल सेंटर पर दबिश दी। जहां से पुलिस ने 29 डायलर सैट मोटरोला, 05 एंड्रायट फोन, 15 एटीएम, 11 पेन कॉर्ड, आठ सिम कार्ड, एक मुहर, एक पासपोर्ट, दो लेपटाँप मय चार्जर, राउटर मय चार्जर तथा कुछ नगदी बरामद की। जिसे शुक्रवार को जनपद में लाया गया।

एसपी ने बताया कि आरोपित के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश कर उसे जेल भेजा। एसपी पिंचा ने बताया कि वह इसकी जानकारी एसटीएफ के साथ संबंधित प्रदेश के एसटीएफ के साथ भी साझा कर रहे हैं। जिससे अन्य केसों का भी खुलासा किया जा सके। सीओ ऑपरेशन अभिनय ने बताया कि आरोपित युवक बैंक कस्टमर केयर या अधिकारी बनकर लोगो के एटीएम कार्ड नंबर, बैंक एकाउंट, डेबिट व क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेता था। जिससे वह ऑनलाइन ठगी करता था। पैसे को कई एकाउन्टों मे घुमाकर गुमराह करने के लिये अलग अलग शहरों से निकालता है। वहीं ऑनलाइन शॉपिंग कर डिलीवरी को अन्य पते पर मंगवाता और उसे बाद में ऑलेक्स पर बेच कर दूसरे अन्य से खरीदवा लेता। आरोपित फैज वर्तमान में ग्रेजुएशन कर रहा है।

 

जानकारी मिली है कि आरोपी पांच साल पहले दिल्ली आया था। दिल्ली में अलग-अलग कॉल सेंटर पर काम किया। करीब 1 साल पहले उसने यह कॉल सेंटर से ही ठगी करने का काम शुरु किया। इस तरह के मामले का पुलिस की ये पहली कार्यवाही है। एसपी ने पूरी टीम को 5000 रुपये इनाम देने की घोषणा की है। साथ ही डीआईजी ने टीम को बधाई दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here