नैनीताल में आपदा से अब तक 30 लोगों की मौत की पुष्टि, राहत-बचाव कार्य जारी

नैनीताल : नैनीताल में बीते दिनों बारिश का सबसे ज्यादा कहर बरपा। नैनीताल में हालात सुधारने के लिए एसएसपी को खुद मैदान में आना पड़ा और सड़कें खुलवानी पड़ी। वहीं बड़ी खबर ये है कि नैनीताल में आपदा से मरने वाले लोगों की संख्या 30 पहुंच चुकी है। रेस्क्यू के बाद 17 शव बरामद कर लिए गए हैं। ओखलकांडा के थलाड़ी गांव में आपदा में मारे गए लोगों की अब तक सही जानकारी नहीं मिल पाई है।

अपर जिलाधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि बुधवार शाम तक 30 लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है। पुलिस, प्रशासन, एनडीआरएफ, सेना व ग्रामीणों की मदद से चलाए गए रेस्क्यू ऑपरेशन में दोषापानी में 5, चौखुटा में 6 सकुना (रामगढ़) में 9, कैंची में 2, बोहराकोट में 2, रामगढ़ में 1, क्वारब में 2 व ताकुला में 1 व थलाड़ी में 1 शव बरामद कर लिया गया है। ओखलकांडा के थलाड़ी गांव में शाम के वक्त 7 किलोमीटर पैदल चलने के बाद एनडीआरएफ व प्रशासन की टीम पहुंची।

टीम ने ग्रामीणों के साथ मिलकर रेस्क्यू शुरू किया है। गांव देर शाम तक एक शव बरादम हुआ। गांव में आपदा के दौरान कितने लोग मौजूद थे इसका सही आंकड़ा पता नहीं चल पा रहा है। मलबे में 7 से 10 लोगों के दबे होने की आशंका है। रेस्क्यू आपरेशन पूरा होने के बाद ही क्षेत्र की स्थिति का सही पता लग पाएगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here