उत्तराखंड : पहाड़ की महिलाओं की सुरक्षा को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का बड़ा बयान

देहरादून : लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर पंचायत सदस्यों को संसद की कार्यप्रणाली और लोकतांत्रिक सिद्धांतों से परिचित कराने के उद्देश्य से उत्तराखंड की पंचायती राज संस्थाओं के लिए देहरादून में आज एक परिचय कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम का उद्घाटन लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल, पंचायती राज मंत्री अरविंद पांडे मौजूद रहे। वहीं, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत वर्चुअल तरीके से शिरकत कर रहे हैं।

इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पहाड़ की महिलाओं की सुरक्षा को लेकर बड़ा बयान दिया। सीएम ने कहा कि अगले 5 साल में महिलाओं के साथ होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने की सरकार कोशिश करेगी। सीएम ने कहा कि जंगल से घास लाते समय महिलाओं अक्सर दुर्घटनाओं का शिकार हो जाती हैं। कई महिलाएं पेड़ से गिरने या जंगली जानवरों का शिकार हो जाती है जिनको बचाने के लिए सरकार काम करेगी। सीएम ने कहा कि हमारा टारगेट महिलाओं के सर से बोझ कम करना है। अगले पांच साल में हम इस पर टारगेट लेकर काम करेंगे। सीएम त्रिवेंत्र सिंह रावत ने कहा कि इसके लिए सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। हर साल घास काटने, लकड़ी लाने के दौरान होने वाली माँ- बहनें जंगली जानवरों का शिकार होती है जिनको बचाने के लिए सरकार काम करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here