उत्तराखंड में जल प्रलय, यहां मलबे में दबकर किशोरी की मौत, 5 जिंदा दफन

अल्मोड़ा : उत्तराखंड में बारिश का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों में बारिश से सहाहाकार मचा हुआ है। लोग दहशत में जी रहे हैं। कई लोगों के आशियाने उनसे इस बारिश ने छीन लिए। कई लोग बेघर हो गए। बारिश के कहर के कारण अब तक 16 लोग जिंदा दफन हो गए। कुमाऊं क्षेत्र में बारिश से हाहाकार मचा हुआ है। अल्मोड़ा में अब तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है।

आपको बता दें कि बड़ी खबर अल्मोड़ा से है जहां जिला मुख्यालय के हीरा डूंगरी में मकान में मलबा आने से 14 साल की किशोरी की मौत हो गई। जबकि उसकी मां घायल हो गई। उसको अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जाता है यहां रहने तिरलोक सिंह की 14 साल की बेटी की मलबे में दबने से मौत हो गई। उसकी मां घायल हो गई। मृतका का नाम गुनगुन बताया जा रहा है। घटना देर रात की बताई जा रही है।

अल्‍मोड़ा जिले में बारिश से भिकियासैंण तहसील के रापड गांव में पहाड़ी से मलबा आने के कारण एक मकान ध्‍वस्‍त हो गया। हादसे में तीन लोग जमींदोज हो गए। कुछ लोगों ने भाग कर अपनी जान बचाई। एसडीआरएफ की टीम मौके पर रेस्क्यू कर रही है। वहीं कपकोट के भनार गांव के एक युवक पहाड़ से गिर रहे पत्थरों की चपेट में आ गया, जिससे उसकी दर्दनाक मौत हो गई है। अल्‍मोड़ा में हीरा डूंगरी नामक जगह पर एक मकान की दीवार गिरने से किशोरी अरुमा सिंह पुत्री त्रिलोक सिंह मलबे में दब गई। उसका शव बरामद कर लिया गया है। बता दें कि 10 मकान जिले के विभिन्न क्षेत्रों में क्षतिग्रस्त होने की सूचना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here