बुरी फंसीं हरीश चंद्र दुर्गापाल से मिलने पहुंची कांग्रेस की प्रत्याशी, गेट किया बंद, मचाया बवाल

लालकुआं : कांग्रेस ने बीती रात प्रत्याशियों की दूसरी लिस्ट जारी की जिसमे 11 के टिकट फाइनल किए गए। वहीं टिकट की आस लिए बैठ पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल को झटका लगा। लालकुआं विधानसभा से कांग्रेस से पूर्व ब्लाक प्रमुख संध्या डालाकोटी को टिकट दिया गया जिसके बाद बगावत के सुर उभरने लगे हैं। आपको बता दें कि इस विधानसभा से दावेदारी कर रहे दो दावेदार समर्थकों से विचार विमर्श कर चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहे हैं।

लालकुआं विधानसभा से पूर्व ब्लाक प्रमुख संध्या डालाकोटी के साथ ही पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल, पूर्व पीसीसी सदस्य हरेंद्र बोरा व कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता बीना जोशी व पीसीसी सदस्य राजेंद्र खनवाल टिकट की दावेदारी में थे। लेकिन कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने संध्या डालाकोटी को टिकट दिया है। ऐसे में अन्य दावेदारों में नाराजगी स्पष्ट दिखाई दे रही है।पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल और पूर्व में कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ चुके हरेंद्र बोरा ने स्पष्ट कहा है कि वह निर्दलीय चुनाव लडऩे को लेकर मंगलवार को कार्यकर्ताओं व समर्थकों से विचार विमर्श करेंगे। अगर समर्थक  चाहेंगे कि चुनाव लडऩा है तो वह निर्दलीय ही चुनाव लड़ेंगे।

कांग्रेस पार्टी की अधिकृत प्रत्याशी संध्या डालाकोटी पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल के आवास में प्रातः 11:30 बजे पहुंची, जहां दुर्गापाल समर्थकों ने उनका मुख्य द्वार बंद कर दिया। और संध्या डालाकोटी के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया। आक्रोशित कार्यकर्ता दुर्गापाल जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे. साथ ही उन्होंने संध्या डालाकोटी को दुर्गापाल के घर में घुसने नहीं दिया। यह प्रक्रिया काफी देर तक चलती रही। जहां संध्या डालाकोटी और उनके पति कांग्रेसी नेता किरन डालाकोटी दुर्गापाल से मिलने के लिए उनके आवास में जाने का प्रयास करते रहे।

वहीं पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल के पुत्र पंकज दुर्गापाल उनको समझाते रहे कि वह इस समय लौट जाएं क्योंकि कार्यकर्ता अत्यधिक आक्रोशित हैं। फिलहाल जद्दोजहद जारी है। संध्या डालाकोटी एवं उनके साथ आए कार्यकर्ता दुर्गापाल से मिलने के लिए उनके आवास में घुसने की कोशिश की। इस मौके पर कांग्रेसी नेता हरेंद्र बोरा समेत कई लोग दुर्गापाल के आवास में मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here