यशपाल आर्य ने उगले भाजपा के राज, हरदा से बोले- मुझे बल्द बना दो

देहरादून : यशपाल आर्य की कांग्रेस में घर वापसी हुई है। भाजपा का दामन छोड़ कर यशपाल आर्य ने कांग्रेस का दामन थामा और मंत्री पद से इस्तीफा दिया। साथ ही उनके बेटे ने भी कांग्रेस का हाथ थामा। 2017 में कांग्रेस को छोड़ भाजपा में गए पिता-बेटे ने 2021 में फिर से घर वापसी की। वहीं आज कांग्रेस मुख्यालय में यशपाल आर्य का भव्य स्वागत किया गया. इस दौरान मंच से अपने संबोधन में यशपाल आर्य ने भाजपा के कई राज उगले।

सरकार तो कांग्रेस ही चलाना जानती है-यशपाल आर्य

यशपाल आर्य ने कहा कि जब मैं भाजपा में था तो उस वक्त भाजपा वाले भी कहते थे कि सरकार चलाना तो कांग्रेस को आता है। भाजपा को सरकार चलाना नहीं आता। यशपाल आर्य ने कहा कि जब मैं भाजपा में था तो उस वक्त हम बाते करते थे कि सरकार तो कांग्रेस ही चलाना जानती है, हम विपक्ष में ही ठीक है।

भाजपा की सरकार हवाई सरकार है-आर्य

यशपाल आर्य ने कहा कि भाजपा की सरकार हवाई सरकार है जो आपदा में केवल हवाई सर्वैक्षण करती रही उन्हें जनता से, आपदा पीड़ितों से कोई मतलब नहीं है। आगे यशपाल आर्य ने कहा कि दो महीने अलख जगाने की जरुरत है भाजपा को परास्त करने के लिए। इसके लिए हम सब, आप सब तैयार हैं।

भाजपा की उलटी गिनती शुरु हो गई है-यशपाल आर्य

इस दौरान यशपाल आर्य जोश में दिखे। मंच पर नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व सीएम हरीश रावत, विधायक काजी समेत कई कार्यकर्ता मौजूद रहे। सभी ने यशपाल आर्य की कई बातों पर ठहाके लगाए। हरीश रावत भी मुस्कुराते नजर आए. यशपाल आर्य ने कहा कि वहां से कुछ सीखकर आया हूं कुछ सिखाऊंगा। साथ ही कहा कि आपका भाई यशपाल आर्य भाजपा को जवाब देगा। भाजपा की उलटी गिनती शुरु हो गई है।

मैं जब सचिवालय जाता था तो मेरी नजरें कांग्रेस भवन में ही…

आगे यशपाल आर्य ने कहा कि मेरी कोई हैसियत नहीं है मुझे जो बनाया पार्टी ने बनाया, ये बात कहते हुए आर्य भावुक हो गए। यशपाल आर्य ने कहा कि जितने दिन में भाजपा में रहा इसकी भरपाई मैं करुंगा। बोले कि मैं पूरी मेहनत करुंगा। यशपाल आर्य ने कहा कि मैं जब सचिवालय जाता था तो मेरी नजरें कांग्रेस भवन में ही रहती थी। मैंने यहां से कई लड़ाईयां लड़ी। इस मंदिर से कई लड़ाइयां हमने लड़ी हैं।

हरीश रावत से कहा- मुझे अपना बल्द बना दो

इस दौरान यशपाल आर्य ने हरीश रावत से कहा कि मुझे अपना बल्द बना दो। इस बल्द को कही जोत दो. मैं दिन रात जोतन को तैयार हूं। मैं पूरी मेहनत करुंगा मैं वैसा बेल नहीं जो एक जगह बैठ गया, मैं ऐसा बल्द नहीं बनूंगा। मैं ऐसा बल्द बनूंगा जिसको आप मारेंगे मैं दिन रात काम करुंगा। ये बात सुन सभी वहां हंसने लगे और खुद यशपाल आर्य भी। आर्य ने ठानी की वो पूरी मेहनत करेंगे और कार्यकर्ता के रुप में काम करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here