उत्तराखंड : मां के इस धाम में पूरी होती हैं मन्नतें, जानें क्या है मान्यता…VIDEO

 

हरिद्वार : मां मनसा का सबसे प्रसिद्ध एक शक्तिपीठ हरिद्वार में स्थित है। मान्यताओं के अनुसार मनसा देवी को भगवान शिव की मानस पुत्री के रूप में पूजा जाता है। मां मनसा को नागराज वासुकी की बहन के रूप में भी पूजा जाता है। पुजारी गणेश प्रसाद शर्मा के मुताबिक जिस वक्त महिषासुर ने धरती पर आतंक मचाया तो देवता परेशान हो उठे।

उस वक्त मां मनसा ने देवताओं की इच्छा पूरी की और महिषासुर का वध किया। वध करने के बाद हरिद्वार में मां मनसा ने विश्राम किया और तभी से यहां माता का प्रसिद्ध मंदिर है। उस वक्त मां मनसा देवताओं की इच्छा पूरी करती थी और कलयुग में मां मनसा उसके दरबार आने वाले सभी लोगों की इच्छा पूरी करती है।

नवरात्र में मां मनसा देवी का विशेष महत्व है। जो सच्चे मन से यहां एक पेड़ में धागा बांधता है और इच्छा मांगता है उसकी इच्छा अवश्य पूरी होती है। नवरात्र को लेकर मंदिर में विशेष तैयारी की गई है। नवरात्र की पूर्व संध्या पर मंदिरों को लाइटों से सजाया गया है। इसके साथ ही नौ दिन मंदिर में मां मनसा का विशेष पाठ होगा जो सुबह से शाम तक चलेगा।

नवरात्र के दौरान मंदिर की सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा जाएगा। सभी पंडित और कर्मचारी ड्रेस कोर्ड में मंदिर में उपस्थित रहेंगे। श्रद्धालुओं के लिए किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो इसके लिए कुछ कर्मचारियों की अलग से ड्यूटी लगाई गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here