नानक सागर बैराज का बढ़ा जलस्तर, उत्तराखंड से लेकर यूपी तक मंडराया खतरा

सितारगंज : उत्तराखंड में हो रही 3 दिन से लगातार भारी बारिश का कहर जारी है। जनपद उधम सिंह नगर के नानकमत्ता में स्थित नानकमत्ता बैराज में जलस्तर खतरे के निशान पर बढ़ने से नानकमत्ता बैराज से 20000 क्यूसिक पानी छोड़ा गया है।

मौसम विभाग के अलर्ट के बाद लगातार तीन दिनों से हो रही बरसात में पहाड़ों पर त्राहि-त्राहि मची हुई है भूस्खलन से मकान ढहने की खबरे आ रही है कुमाऊं में अभी तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है। इसकी अधिकारिक पुष्टि भी हो चुकी है। पहाड़ों पर लगातार हो रही बारिश से तराई में भी भारी मात्रा में जलभराव की स्थिति उत्पन्न हो गई है. नानकसागर डैम में 703 स्केल के पार पानी पहुंच गया है।

पहाड़ों पर हो रही लगातार बारिश से तराई में भी लोग सदके में हैं। नानक सागर डैम में पिछले कई वर्षों के अनुसार इस बेमौसमी बरसात ने कई वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। नानकसागर डैम क्षेत्र के अधिशासी अभियंता सुरेंद्र पाल सिंह ने बताया कि 703 स्केल से पानी पार हो गया है और लगभग 22 हजार क्यूसेक पानी को नानक सागर डैम से छोड़ा गया है.

वहीं उन्होंने बताया कि डैम के सभी गेट पानी निकासी के लिए खोल दिए हैं। उन्होंने लोगों से संयम बरतने की अपील की है, उन्होंने कहा स्थिति अभी सामान्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here