देखिए असली VIDEO : पहले SP ने मारा था थप्पड़, फिर CM के सिक्योरिटी ने चलाई लात

सोशल मीडिया पर एक वीडियो जमकर वायरल हो रही है और ये वीडियो सुर्खियां बटोरे हैं। बता दें कि वीडियो हिमाचल प्रदेश का है. दरअसल इस वीडियो में सीएम जयराम ठाकुर की सुरक्षा में तैनाात एक सुरक्षाकर्मी लातें मारते हुए दिख रहा है और वहां मौजूद लोग चिल्ला रहे हैं कि आखिर एसपी साहब को कैसे मार दिया। सुरक्षाकर्मी पर सवाल खड़े होने लगे। हंगामा होने लगा कि एसपी को लातें कैसे मार दी। लेकिन अगर पूरी वीडियो देखी जाए तो सच्चाई कुछ और ही हैष

आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बुधवार को मनाली के दौरे पर थे। इस दौरान हिमाचल के CM जयराम ठाकुर स्वागत के लिए पहुंचे थे। यहां सीएम के सुरक्षाकर्मी भी थे। इसी बीच कुल्लू के एसपी की एक सुरक्षाकर्मी से कुछ बहस हो जाती है। फिर अचानक एसपी गौरव सिंह सुरक्षाकर्मी को थप्पड़ मार देते हैं। इस बात से नाराज सुरक्षाकर्मी के एक सहयोगी कुल्लू एसपी गौरव को लातों से मारना शुरू कर देता है।जब यह विवाद हुआ मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी वहीं गाड़ी में बैठे थे।मुख्यमंत्री के सुरक्षाकर्मियों को जब इस बात का पता चला तो वे भी तैश में आ गए। उन्होंने पुलिस अधीक्षक के साथ धक्का-मुक्की की। सुरक्षा अधिकारी बलवंत सिंह ने पुलिस अधीक्षक को लातें मार दी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं व तीन दिन के अंदर रिपोर्ट मांगी गई है।

हिमाचल में सबसे कम उम्र में एसपी बनने वाले गौरव सिंह पहले भी अपने काम के लिए चर्चा में रहे हैं.उन्हें उनकी धाकड़ छवि के चलते ‘सिंघम’ भी कहा जाता है. साल 2013 बैच के आईपीएस अधिकारी गौरव सिंह पहले भी बद्दी में बतौर एएसपी सेवाएं दे चुके हैं. उनका यह कार्यकाल खनन और नशा माफिया को सबक सिखाने वाला रहा था. इस अधिकारी की कार्यप्रणाली की जनता प्रशंसा करती है तथा बीबीएन के जनप्रतिनिधि और लोग चाहते थे कि वे यहां पर एसपी लगें, ताकि नशा व खनन माफिया पर लगाम लग सके. एसपी यूपी के रहने वाले हैं।गौरव सिंह का जन्म 1 जुलाई 1990 को आगरा में एक साधारण परिवार में हुआ. उनके पिता का नाम बी. सिंह और माता का नाम किरण देवी है. गौरव शिमला, बद्दी और कांगड़ा में बतौर एएसपी सेवाएं दे चुके हैं और वर्तमान में एसपी कुल्लू थे. अब थप्‍पड़ कांड के बाद उन्हें छुट्टी पर भेज दिया गया है.

तत्कालीन डीजीपी कर चुके हैं सम्मानित

गौरव सिंह को 30 जून 2017 को तत्कालीन डीजीपी संजय कुमार ने डीजीपी डिस्क आवार्ड से सम्मानित किया था. उन्हें यह अवार्ड वर्ष 2015 में जिला शिमला के बालूगंज में ब्लाइंड मर्डर को सुलझाने व ओवरआल गुड वर्किंग के लिए मिला था.

ये अधूरा वीडियो हो रहा वायरल–

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here