उत्तराखंड: व्यापारी का अपहरण कर 3 दिन रखा बंधक, 4 लाख रुपये भी लूटे, ये है पूरा मामला

गदरपुर: उधमसिंह नगर जिले के गदरपुर में एक व्यापारी को तीन दिन तक बंधक बनाकर पीटने का मामला सामने आया है। कम दाम पर गेहूं खरीदवाने के नाम पर गदरपुर के कुछ आढ़तियों पर हरियाणा के यमुनानगर जिले के अनाज कारोबारी को तीन दिन तक बंधक बनाकर पीटने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं, मारपीट करने वालों ने उससे साढ़े चार लाख रुपये भी वसूल लिए। पीड़ित की पत्नी की शिकायत पर यमुनानगर पुलिस ने गदरपुर पुलिस से संपर्क किया था। पुलिस ने व्यापारी को आरोपियों के चंगुल से छुड़ाने के बाद उसके बयान दर्ज कर पत्नी को सौंप दिया। उसका आरोप है कि पुलिस ने उनकी रिपोर्ट भी दर्ज करने से मना कर दिया।

जानकारी के अनुसार रालौर जिला यमुनानगर के व्यापारी रणजीत सिंह ने पुलिस को बताया कि गदरपुर के कुछ आढ़तियों ने 2019 में उसके भाई सुरजीत सिंह के साथ गेहूं खरीद का सौदा किया था। भुगतान की गारंटी के लिए सुरजीत ने पांच चेक दिए थे। पिछले साल पूरा भुगतान करने के बाद सुरजीत ने पांच चेक वापस मांगे तो व्यापारी टालमटोल करने लगे। 28 अप्रैल को गदरपुर के एक व्यापारी ने उसे फोन कर सस्ते में गेहूं खरीदने के लिए रामपुर की मिलक अनाज मंडी बुलाया था। घर से ढाई लाख रुपये लेकर किराए की गाड़ी से गदरपुर पहुंचा था।

इसके बाद वहां मौजूद गदरपुर के चार आढ़तियों ने उसे जबरदस्ती गाड़ी में बैठा कर अगवा कर लिया। तीन दिन तक उसको बंधक बनाकर मारपीट की और धमकाया गया। उसके रुपये भी छीन लिए गए और रुपयों की मांग की गई। उन्होंने अपनी डॉक्टर बेटी को फोन कर उसके गूगल अकाउंट से दो बार में 50-50 हजार और एक लाख रुपये ट्रांसफर कराए थे। इसके बाद उस पर घर से रुपये मंगाने का दबाव बनाया। पत्नी को जब शक हुआ तो उन्होंने जिला यमुनानगर के थाने में पति के अपहरण की शिकायत दी। यमुनानगर पुलिस ने गदरपुर पुलिस से संपर्क साधकर मामले से अवगत कराया था।

स्थानीय पुलिस का दबाव बढ़ने पर गदरपुर के व्यापारी ने शुक्रवार की देर शाम उसे पुलिस के हवाले कर दिया। स्थानीय पुलिस की सूचना पर यमुनानगर से उसकी पत्नी गदरपुर पहुंची थी। पुलिस ने उसका बयान लेकर उनकी पत्नी की सुपुर्दगी में वापस भेज दिया। इसके साथ पुलिस ने पत्नी की तहरीर पर मुकदमा लिखने से इनकार कर दिया। एएसपी प्रमोद कुमार ने मामला संज्ञान में होने से इनकार किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here