उत्तराखंड: यहां हुआ अनोखा विरोध, लोगों ने कूड़े के ढेर पर किया योग

हल्द्वानी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर जहां लोग साफ-सुथरी जगहों पर योग करके अपने मन और मस्तिष्क को स्वस्थ करने में लगे हुए है। तो वहीं हल्द्वानी में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो लाखों टन कूड़े के ढेर में योग करने को मजबूर हैं। हल्द्वानी के इंदिरा नगर स्थित ट्रंचिंग ग्राउंड में बड़े पैमाने पर प्रतिदिन कई शहरों का लाखों टन कूड़ा फेंका जाता है और जिसके चलते यहां पर कूड़े का ढेर लगा हुआ है।

उसी कूड़े के ढेर पर वनभूलपुरा के कुछ लोग योग करते हुए नजर आ रहे हैं और सरकारी सिस्टम को आईना दिखाने में लगे हुए हैं। स्थानीय लोगों ने मिलकर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर कई प्रकार के योग किए और अपने मन मष्तिक को स्वस्थ रखने की कोशिश की, लेकिन गंदगी से भरे इस कूड़े के ढेर से निकलने वाली बदबू में योग करना इतना आसान काम नही है। लोगों का कहना है की जिस जगह पर कूड़े का ढेर है। वहां पर पहले खाली मैदान हुआ करता था, जिसमें बच्चे खेलते थे, लेकिन नगर निगम राज्य सरकार ने इस मैदान में बहुत बड़ा ट्रंचिंग ग्राउंड बना दिया।

यहां अब रोजाना लाखों टन कूड़ा और गंदगी फेंकी जाती है जिसके चलते लोगों को सांस लेने में काफी दिक्कतें हो रही है। विगत 8 या 10 सालों में कई मौतें इसके चलते हुई हैं। लोगों का कहना है कि कोविड से लोगों को सांस लेने में इतनी दिक्कत नही रही हो, जितनी इंदिरा नगर के लोग ट्रंचिंग ग्राउंड की गंदगी से निकलने वाली बदबू की वजह से सांस लेने में महसूस करते हैं। सरकारी सिस्टम के खिलाफ आज स्थानीय लोगों मिलकर कूड़े के ढेर पर योग किया ताकि सरकार तक संदेश जा सके कि सिर्फ योग करने से कुछ नही होता आसपास का माहौल को भी अच्छा करना पड़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here