उत्तराखंड : यहां आसमान से बरसी आफत, एक घर तबाह, रेस्क्यू कार्य जारी

बागेश्वर: आसमानी आफत लगातार जारी है। जहां भारी बारिशी लोगों के लिए दिक्कतें खड़ी कर रही है। वहीं, आकाशीय बिजली भी लोगों पर कहर बनकर गिर पड़ी। बागेश्वर जिले के 9 मोटर मार्ग अभी भी बंद हैं। आकाशीय बिजली से एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया है। इस दौरान एक मवेशी गदेरे में बह गया। मौके पर राहत और बचाव कार्य जारी है।

कपकोट ब्लाक के बड़ी पन्याली में केदार सिंह पुत्र स्व. कुंवर सिंह के मकान में आकाशीय बिजली का कहर टूट पड़ा। वज्रपात से उसका मकान बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। किस्मत से मकान के अंदर रह रहे तीन लोग सुरक्षित बच गए। वज्रपात उनके रसोई में गिरा था। वज्रपात होने के बाद मकान में आग लग गई। घटना में उनकी खाद्य सामग्री, बर्तन, गैस पकड़े आदि हजारों का सामान जलकर राख हो गया।

पीड़ित परिवार ने सरकार से मुआवजे की मांग की है। घटना के बाद बुधवार को प्रशासन की टीम मौके पर रवाना हो गई है। अभी रिपोर्ट का इंतजार है। जिसके बाद ही आगे की कार्रवाई होगी। लगातार हो रही बारिश से गरुड़ ब्लाक के भिटारकोट गांव के प्रेम बल्लभ का एक बैल जंगल से घर आते समय कंठेश्वर गधेरे में जा गिरा। जिसकी मौके पर ही मौत हो गई। बारिश से जिला मुख्यालय को जोड़ने वाले 9 मोटर मार्ग बंद है।

गरुड़ ब्लाक के गरुड़-द्यौनाई, कंधार-सिरमोली-लोहागढ़ी, बिजोरीझाल-ओखलसों मोटर मार्ग एक सप्ताह बाद भी नही खुल पाए है। नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण मोटर मार्ग खोलने में दिक्कत आ रही है। कपकोट ब्लाक के 6 मोटर मार्ग बंद है। प्रशासन लगातार मोटर मार्गों को सुचारु करने में जुटा हुआ है। बारिश के कारण बार-बार भूस्लखन होने से दिक्कत आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here