उत्तराखंड : बिना अनुमति किया था कोरोना मरीजों का इलाज, अब वसूला जा रहा जुर्माना

देहरादून: कोरोना काल की दूसरी लहर के दौरान एक और जहां अस्पतालों में तैनात डॉक्टर कोविड मरीजो की जी जान से जान बचाने में लगे हए थे तो वही कुछ अस्पताल देहरादून जिले में ऐसे भी थे जो शाशन के नियमों को ताक पर रखकर मरीजों का इलाज कर रहे थे। दरसअल, देहरादून जिले में प्रसाशन द्वारा कोविड की दूसरी लहर के दौरान कई अस्पतालों को कोविड केअर सेंटर के रूप में मरीजों का इलाज करने की इजाजत दी गई थी।

अपर मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी कैलाश गुंज्याल ने बताया कि कुछ अस्पतालों द्वारा बिना प्रसाशन की अनुमति के मरीजों का इलाज के उनकी जान से खिलवाड़ भी किया जा रहा था। जिस पर प्रसाशन ने जिले के ऐसे 6 अस्पतालों जिनमें फोटोन अस्पताल, मार्क, केशव, ग्लोबल ट्रामा, यशोदा, एमसीएस हिस्पिटल को नोटिस भी थमाया।

उनमें फोटोन और मार्क अस्पताल शामिल हैं। उन्हें नोटिस दिए जाने के वावजूद भी मरीजों को भर्ती किया जा रहा था। जिसमे फोटोन अस्पताल पर 10 हजार की पेनाल्टी लगाई गई तो वही मार्क अस्पताल पर 50 हजार की पेनाल्टी लगाई गई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here