उत्तराखंड : रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी भर्ती किए जाएंगे लोग, ये है कारण

देहरादून : उत्तराखंड में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कोरोना के मामले बढनें के साथ ही लोगो की रेपोर्तं भी अब देरी से आने लगी है। रिपोर्ट देरी से आने ले कारण लोगों को समय पर इलाज नहीं मिल पा रहां है। साथ ही कई ऐसे मरीज भी हैं, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आ रही है, लेकिन उनमें कोरोना के पूरे लक्षण नजर आ रहे हैं।

ऐसे में सरककर नें फैसला लिया है कि अगर किसी व्यक्ति की RT-PCR रिपोर्ट निगेटिव आती है, लेकिन कोविड के  लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो उसका तुरंत इलाज किया जाएगा। अस्पताल में भी भर्ती किया जाएगा। स्वास्थ्य महानिदेशक की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कोविड के उपचार के लिए गठित टास्क फोर्स ने यह तय किया है कि आरटी पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी कोविड-19 के लक्षण अगर व्यक्ति में दिखाई देते हैं तो उसे अस्पताल में भर्ती करना होगा।

अस्पताल प्रशासन को ऐसे रोगियों को भर्ती करने से इनकार नहीं करने के लिए कहा गया है। डॉक्टरों के अनुसार, नए कोरोना संक्रमण में कई तरह की चीजें सामने आ रही हैं। मरीज की रिपोर्ट तो निगेटिव आ रही है लेकिन सीटी स्कैन में संक्रमण मिल रहा है। ऐसे में मरीज की हालत गंभीर न हो जाए इसलिए भर्ती कराकर इलाज कराया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here