उत्तराखंड : नहीं होगी राशन की कमी, जिलों में एडवांस पहुंचा दिया 3 महीने का कोटा

हल्द्वानी : मानसून सीजन में उत्तराखण्ड के सीमांत क्षेत्रों में बरसात के कारण भूस्खलन और रोड ब्लॉक होने की वजह से खाद्यान्न का भारी संकट रहता है, जिसको देखते हुए राज्य सरकार द्वारा मानसून से पहले कुमाऊँ के आपदा संभावित जिलों में अगले 3 महीनों की खाद्य सामग्री पहुंचा दी गई है।

हल्द्वानी स्थित कुमाऊँ खाद्य नियंत्रक कार्यालय द्वारा राज्य सरकार के भंडार गृह से कुमाऊं मंडल के बागेश्वर, पिथौरागढ़, चंपावत और नैनीताल जिलों के भारी बारिश वाले क्षेत्रों में स्थित गोदामो में खाद्य और रसद पहुंचाने के निर्देश जिला पूर्ति अधिकारियों को दे दिए गए हैं।

कुमाऊँ खाद्य नियंत्रक ललित मोहन रयाल के मुताबिक 22 हज़ार कुंटल गेहूं और 32 हज़ार कुंतल चावल भेज दिया गया है। खाद्य नियंत्रक के अनुसार प्रत्येक जिले के खाद्य आपूर्ति अधिकारियों को सुनिश्चित किया गया है कि आपदा की दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्र के गोदामों में खाद्यान्न को सुरक्षित रखने की उचित व्यवस्था करने को कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here