उत्तराखंड: महंगी पड़ी डग्गामारी, एक लाख का लगा जुर्माना

देहरादून: आजकल शहर में दिल्ली और दूसरी जगहों के लिए जाने वाली बस और टैक्सी संचालक निर्धारित जगहों पर खड़े होने के बजाय दूसरी जगहों से बसों में सवारी भर रहे हैं। इस तरह के मामलों की लगातार शिकायतें मिल रही थी, लेकिन अब इसको लेकर परिवहन विभाग की टीम सख्ती शु कर दी है।

कार्रवाई करते हुए परिवहन टीम ने एक दिन पहले डग्गामार बस का एक लाख रुपये का चालान किया। हरिद्वार बाइपास से संचालित इन बसों को लेकर स्थानीय लोग लगातार शिकायत कर रहे थे और कार्रवाई न होने पर धरने पर बैठने की चेतावनी दी रहे थे। परिवहन विभाग की टीम ने अवैध बस स्टैंड पर छापेमारी करते हुए उसे भी बंद करा दिया।

हरिद्वार बाइपास स्थित इंद्रलोक विहार से अवैध रूप से निजी बस अड्डा संचालित होने की शिकायत मिली थी। इस पर स्वयं आरटीओ प्रवर्तन संदीप सैनी ने एमडीडीए की टीम के साथ निरीक्षण किया था। टीम ने वहां मौजूद दिल्ली जा रही निजी बस को चेक किया तो पता चला कि उसमें यात्रियों ने रेड बस एप के माध्यम से टिकट बुक किए हुए थे।

रेड बस एप ने उत्तराखंड से लाइसेंस नहीं लिया है, जबकि अवैध ढंग से यात्री बुक कर रही है। रेड बस कंपनी को परिवहन विभाग की ओर से नोटिस भी दिया गया है। निजी बस में अवैध रूप से यात्री बुकिंग पर बस का एक लाख रुपये का चालान किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here