उत्तराखंड : कोरोना पॉजिटिव निकली दुल्हन, बारात पहुंचने से पहले चला पता, फिर ऐसे हुई शादी

नैनीताल : कोरोना काल में शादी के कई ऐसे मामले सामने आए हैं, जिनमें या तो दूल्हा या फिर दुल्हन कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जिसके बाद शादियों को टाल देना पड़ा या फिर दूल्हे बिन दुल्हन के ही बारात लेकर लौट गए। ऐसा ही एक मामला नैनीताल जिले के रामगढ़ ब्लॉक के मनर्सा गांव में दुल्हन के कोरोना संक्रमित होने पर वर-वधू ने पीपीई किट पहनकर फेरे लिए।

शादी में दोनों पक्षों के 12 लोग शामिल हुए। वर-वधू के साथ ही बरातियों और घरातियों को 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन कर दिया गया है।सोमवार को मनर्सा गांव में दोपहर 12 बजे दिनेशपुर से बरात पहुंची, जिसमें दूल्हे समेत छह लोग थे। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम की निगरानी में शादी की सभी रस्में पूरी हुईं। प्रशासन ने दोनों पक्षों के लिए पीपीई किट मुहैया कराई।

वर-वधू ने पीपीई किट पहनकर फेरे लिए।राजस्व निरीक्षक भुवन चंद्र भंडारी और उपनिरीक्षक पवन ध्यानी ने बताया कि शादी के बाद दुल्हन को एक अलग वाहन से ससुराल भेजा गया, जहां दिनेशपुर में पूरे परिवार को कोविड नियमों के तहत 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन की व्यवस्था की गई है। शादी कार्यक्रम के दौरान खैरना पुलिस कांस्टेबल हर्षवर्धन सिंह, जितेंद्र सिंह थापा भी मौजूद रहे।मनर्सा गांव में सोमवार को पीपीई किट पहनकर हुई शादी चर्चाओं में रही।

स्थानीय लोगों ने बताया कि दुल्हन के पिता ने शादी की विशेष तैयारियां की हुई थीं, लेकिन बेटी के संक्रमित होने से सभी तैयारियां धरी रह गईं।हालांकि एसडीएम से अनुमति मिलने के बाद पीपीई किट पहनकर सोमवार को दूल्हा-दुल्हन ने सात फेरे लेने के साथ शादी की सभी रस्में पूरी कीं। इसको लेकर रामगढ़ और बेतालघाट ब्लॉक के गांवों में चर्चा होती रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here