उत्तराखंड: इस विश्वविद्यालय में कई दिनों से पढ़ाई ठप, अनिश्चितकालीन हड़ताल पर शिक्षक

पंतनगर: पंतनगर विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार कर दिया है। पंतनगर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के नेतृत्व में विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने एग्रीकल्चर भवन में सात मांगो को लेकर बीती 19 मार्च से धरने पर हैं। धरने में सभी विभागों के शिक्षकों ने मांगों का निस्तारण करने की मांग की है। शिक्षकों ने सांतवें वेतनमान का लाभ, एरियर का शीघ्र भुगतान, समस्याओं का निराकरण, शिक्षकों की पदोन्नति और विश्वविद्यालय को केन्द्रीय कृषि विद्यालय बनाने की मांग की।

पंतनगर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष पीएन राय ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रबंधन शिक्षकों के साथ सौतेला व्यवहार कर रहा है, जिससे मजबूर होकर शिक्षकों को कार्य बहिष्कार करना पड़ रहा है। वहीं पंतनगर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के उपाध्यक्ष जेएल सिंह ने बताया कि शिक्षकों को सातवें वेतनमान का लाभ नहीं मिल पाया है। शिक्षकों को एरियर भी नहीं मिल पाया है, जबकि अन्य सभी प्रदेश के विश्वविद्यालयों और डिग्री काॅलेजों में एरियर का भुगतान हो गया है।

पंतनगर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के सचिव डाॅ. राजीव रंजन कुमार का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रबंधन के इस रवैये का खामियाजा विद्यार्थीयों को भुगतना पड़ रहा है, लेकिन शिक्षक विद्यार्थीयों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। मांगे पूरी होने के उपरांत एक्स्ट्रा क्लास लेकर विद्यार्थीयों को पढ़ाया जायेगा, जिनसे उनकी पढ़ाई पर कोई असर न हो। शिक्षकों के धरने से विश्वविद्यालय में पढ़ाई बाधित है, वहीं रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पर भी रोक लगी हुई है। जिससे विद्यार्थीयों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। शिक्षक संघ ने मांगे पूरी न होने तक अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here