उत्तराखंड : प्रदेश प्रभारी का 2022 के लिए चेहरा घोषित करने की मांग को लेकर बड़ा बयान, हरदा रहे गायब

देहरादून : उत्तराखंड कांग्रेस ने कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला और इसको लेकर आज शुक्रवार को राजभवन कूच किया। इस दौरान कांग्रेस प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव भी पहुंचे। किसान बिल के विरोध में शुक्रवार को हजारों की संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की मौजूदगी में राजभवन कूच किया।इस रैली में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव भी मौजूद रहे।

इस दौरान प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कहा कि जब तक कृषि कानून वापस नहीं होते तब तक कांग्रेस की लड़ाई जारी रहेगी। बता दें कि कांग्रेस के राजभवन कूच में हरीश रावत मौजूद नहीं रहे। हरीश रावत का गायब रहना चर्चाओं का विषय बना और बना हुआ है। प्रदेश प्रभारी की रैली में हरीश रावत, जो हमेशा हर जगह मौजूद रहते हैं और चर्चाओं में रहते हैं वो राजभवन कूच के दौरान गायब रहे, ये बात सबको खटक रही है कि आखिर हरदा के गायब रहने का क्या कारण है? क्या हरदा पार्टी के घमासान को लेकर नाराज है?

2022 के लिए चेहरा घोषित करने को लेकर बड़ा बयान

उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने हरीश रावत के द्वारा 2022 के लिए चेहरा घोषित करने की मांग को लेकर बड़ा बयान दिया और कहा कि 2022 के लिए चेहरा घोषित नहीं होगा। कहा कि कांग्रेस सामूहिक नेतृव पर 2022 का चुनाव लड़ेगी। देवेंद्र यादव ने कहा कि ये पहले भी स्पष्ट किया जा चुका है। साथ ही प्रदेश प्रभारी ने भी कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी चेहर और प्रदेश के सामूहिक नेतृत्व पर चुनाव लड़ा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here