उत्तराखंड: नदी में इतना कम पानी, टूटा 10 सालों का रिकाॅर्ड, कैसे बुझेगी प्यास?

हल्द्वानी: गर्मी का सीजन बढ़ते ही जल संस्थान के लिए दिन प्रतिदिन चुनौती भी बढ़ती जा रही है। हल्द्वानी शहर की प्यास बुझाने वाली गौला नदी में पानी की उपलब्धता को लेकर भारी कमी आई है। इस बार मई में पानी को लेकर शहर में हाहाकार मच सकता है। अब महज गौला नदी में 68 क्यूसेक पानी ही बचा है। पिछले 10 सालों में भी गोला नदी का जलस्तर कभी भी इतना नहीं गिरा।

हल्द्वानी में रोजाना पीने के लिए 30 क्यूसेक और सिंचाई के लिए 47 क्यूसेक पानी की जरूरत होती है, लिहाजा जल संस्थान के अधिकारी इसे किसी चुनौती से कम नहीं मान रहे हैं उनका कहना है कि इस बार न बरसात हुई ना ही बर्फबारी, और जलस्तर लगातार कम हो रहा है लेकिन जल संस्थान पेयजल आपूर्ति बाधित ना हो इसके लिए ट्यूबवेल पर विशेष फोकस कर रहा है और गर्मी के सीजन में ट्यूबवेल की मोटर ना फूंके, इसके लिए भी अभी से कार्य योजना तैयार कर रहा है। जिससे कि गर्मी में शहर के लोगों को पेयजल किल्लत से न जूझना पड़े जबकि अभी भी शहर के कई इलाकों में पानी की भारी किल्लत देखी जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here