उत्तराखंड: पकड़ी गई लाखों की स्मैक, गांव-गांव जाकर करता था सप्लाई

रुड़की: नशाखोरी रुकने का नाम नहीं ले रही है। खासकर स्मैक के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। पुलिस कितने ही दावे करे, लेकिन सच्चाई यह है कि स्मैक तस्करी लगातार जारी है और ग्रामीण इलाकों में युवाओं तक पहुंचाई जा रही है। ऐसा ही एक मामला रुड़की में सामने आया है।

भगवानपुर पुलिस ने भारी मात्रा में स्मैक के साथ एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। बरामद स्मैक की कीमत करीब दस लाख रुपये बताई जा रही है। आरोपी किसी दूसरे से स्मैक खरीदकर उसकी छोटी-छोटी पुड़िया बनाकर ग्रामीण क्षेत्रों में सप्लाई करता था, जिसके लिए उसने बाकायदा एक टीम तैयार की है। एसपी देहात परमिन्दर सिंह डोभाल ने बताया कि नशे पर लगाम कसने के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही है।

उन्होंने बताया कि भगवानपुर पुलिस को सूचना मिली कि ग्राम शाहपुर में इकलाख के घर पर भारी मात्रा में स्मेक है। सूचना पर सीओ मंगलौर पंकज गैरोला के नेतृत्व में टीम ने छापेमारी की तो, इकलाख के घर से 123.50 ग्राम स्मैक, 1 डिजिटल तराजू, 13,300 रुपए नगद बरामद हुए। आरोपी इकलाख ने पूछताछ में बताया कि उसने खुब्बनपुर भगवानपुर निवासी अलीम और उसके छोटे भाई गफ्फरी से स्मैक खरीदी थी।

वह उस स्मेक को गांव में छोटी-छोटी बिट बनाकर बेचता है। अब भी उसने इसमें से 13,300 रुपये की स्मैक बेच दी है। पुलिस ने बताया कि बरामद स्मैक की कीमत करीब दस लाख आंकी गई है। पुलिस अब इसमें शामिल अन्य लोगों की तलाश में जुट गई है। पुलिस को बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here