उत्तराखंड: इन कोरोना योद्धाओं को सलाम, 6 महीने से नहीं ली एक भी छुट्टी

नैनीताल: कोरोना के खिलाफ जंग में वैसे तो कई कोरोना योद्धा हैं, लेकिन हेल्थ वर्कर ऐसे योद्धा हैं, जो इस लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर डटे हुए हैं। अपनी जान की परवाह किए बगैर कोरोना योद्धा हमारी जाने बचाने में जुटे हुए हैं। नैनीताल जिले में 300 हेल्थ केयर वर्कर ऐसे हैं, जो पिछले छह माह से एक भी दिन छुट्टी लिए बिना लगातार वैक्सीनेशन अभियान को जारी रखे हुए हैं। इनमें डॉक्टर, एएनएम, आशा वर्कर, डेटा एंट्री ऑपरेटर, स्टाफ नर्स समेत अन्य कर्मचारी भी शामिल हैं।

पिछले छह माह से चले टीकाकरण अभियान के तहत अब तक नैनीताल जिले में दो लाख 54 हजार 263 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है। जिले भर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सरकारी अस्पताल, स्कूल-कॉलेजों में टीकाकरण चल रहा है। वैक्सीनेशन अभियान में जुटे 300 हेल्थ केयर वर्कर्स के ऊपर जिले के करीब साढ़े नौ लाख की आबादी को टीका लगाने की जिम्मेदारी है। हर दिन निर्धारित लक्ष्य और क्षमता से अधिक पांच हजार लोगों को टीका लगाया जा रहा है।

एसीएमओ नैनीताल डा. रश्मि पंत ने बताया कि वैक्सीनेशन अभियान को सुचारू रखने में जिले के करीब 300 हेल्थ केयर वर्कर जुटे हुए हैं। इनमें से किसी ने भी वैक्सीनेशन शुरू होने के बाद से एक भी दिन छुट्टी नहीं ली है। उन्होंने बताया कि जिले में एएनएम, डॉक्टर, आशा वर्कर, डाटा इंटरी ऑपरेटर, स्टाफ नर्स, एमएसडब्ल्यू, कम्युनिटी मेडिसिन स्टाफ, आशा फैसिलिटेटर और ब्लॉक आशा कॉर्डिनेटर ने 6 महीने ऐ भी छुट्टी नहीं ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here