उत्तराखंड: गरीबों के लिए भेज दिया सड़ा हुआ चावल, जांच में बड़ा खुलासा

बड़कोट: खाद्य पूर्ति विभाग से जुड़ा बड़ा मामला सामने आया है। यहां चावल से लदे चार ट्रक पहुंचे, लेकिन जब ट्रकों में लदे चावल के बोरों को खोलकर देखा गया तो कर्मचारी और अधिकारियों के होश उड़ गए। बोरों में सड़ा हुआ चावल भरा हुआ था। मामले की जानकारी मिलते ही एसडीएम भी जांच के लिए मौके पर पहुंचे। उन्होंने तत्काल मामले के जांच के आदेश दिए हैं।

विकासनगर से बड़कोट आ रहे ट्रकों की जानकारी मीडिया से जुड़े लोगों ने प्रशासन को दी। जिसके बाद तहसील प्रशासन मौके पर पहुंचा और एसडीम बड़कोट ने नायब तहसीलदार को इस पूरे मामले की जांच करने के आदेश दिए। नायब तहसीलदार ने स्थलीय निरीक्षण कर गाड़ियों की जांच कराई। एसडीएम ने दोषियों पर सख्त एक्शन लेने की बात कही है। ट्रकों में करीब 280 बोरे चावल लाया गया है।

उत्तरकाशी के यमुनाघाटी की गरीब जनता के साथ बड़ा खेल खेला जा रहा है। खाद्य आपूर्ति विभाग गरीब के लिए सड़ा हुआ राशन पहुंचा रहा है, जिसका ताजा उदाहरण बड़कोट में पहुंचे सड़े हुए चावल के ट्रक हैं। एसडीएम शालनी नेगी ने प्रभारी तहसीलदार के नेतृत्व में टीम गठित कर आपूर्ति विभाग के गोदाम पर छापा मारा और चार ट्रकों के सैम्पल लिये और जांच के लिए भेज दिए।

उत्तरकाशी की यमुनाघाटी में विकासनगर से सरकारी सस्ता गल्ला की दुकानों के लिए राशन आता है। प्रभारी तहसीलदार धनीराम डंगवाल ने बताया कि शिकायत सही पाई गयी है। गोदाम के पास लगे चार बड़े ट्रकों में रखे चावल के कट्टों को देखा गया, जिसमें सड़ा और पूरी तरह खराब चावल पाया गया। सैंपलिगं की गई है और रिपोर्ट एसडीएम को सौंपी जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here