उत्तराखंड : घूमने के लिए फर्जी Corona रिपोर्ट का सहारा, मंडरा रहा संक्रमण का खतरा

देहरादून: राज्य में आने वाले पर्यटकों के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दी गई है। लोग बड़ी संख्या में राज्य में घूमने आ रहे हैं। लेकिन, इससे कोरोना का खतरा भी मंडराने लगा है। सरकार ने भले ही सख्ती शुरू कर दी हो, लेकिन संकट अभी टला नहीं है। कई ऐसे भी पर्यटक हैं, जो कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लेकर आ रहे हैं। ऐसे पर्यटकों से राज्य में कोरोना का खतरा और बढ़ गया है।

जांच में पता चला है कि यूपी, दिल्ली, पंजाब हरियाणा आदि से फर्जी कोविड जांच रिपोर्ट लेकर पर्यटक घूमने प्रदेश आ रहे हैं। आशारोड़ी चेकपोस्ट पर कोरोना की फर्जी जांच रिपोर्ट का खुलासा हुआ है। फर्जी नेगेटिव रिपोर्ट दिखाकर पर्यटक उत्तराखंड घूमने पहुंच गए थे। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को देखते हुए सरकार ने पर्यटकों के लिए कोरोना आरटी-पीसीआर की 72 घंटे की नेगेटिव रिपोर्ट को अनिवार्य किया है। दिल्ली-एनसीआर के पर्यटकों का बड़ी संख्या में फर्जी रिपोर्ट के साथ पकड़े जाने से अधिकारी भी हैरान और परेशान हैं।

पिछले पांच दिनों के भीतर करीब सौ जांच रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग ने अपने कब्जे में ली हैं। खुलासा होने के बाद चेकिंग प्वाइंट पर स्वास्थ्य विभाग की टीमों का अलर्ट किया गया है। विभाग मामले में मुकदमा दर्ज करने की तैयारी में है। कोरोना के केस कम होने के बाद देहरादून और मसूरी में बड़ी संख्या में पर्यटक उमड़ रहे हैं। दूसरे राज्यों से आने वाले पर्यटकों को सीमा पर कोविड नेगेटिव रिपोर्ट दिखाकर प्रवेश दिया जा रहा है। रिपोर्ट नहीं होने पर जांच की जा रही है और नेगेटिव रिपोर्ट आने पर ही प्रवेश दिया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here