उत्तराखंड: पुलिस ने 24 घंटे के भीतर किया खुलासा, मौसी का बेटा ही निकला

 

देहरादून: एसओजी देहात ऋषिकेश पुलिस की संयुक्त टीम ने ऋषिकेश क्षेत्र में हुई चोरी की घटना का 24 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया है। पुलिस ने घटना में संलिप्त तीन अभियुक्तों को चोरी में प्रयुक्त क्रेटा गाड़ी के साथ गिरफ्तार किया है। अभियुक्तों के कब्जे से चोरी की गयी ज्वैलरी और लाखों रुपये की नकदी सहित शत-प्रतिशत माल बरामद कर लिया है। इस मामले में घर का भेदी सगी मौसी का लड़का ही घटना का मास्टर माइंड निकला।

जानकारी के अनुसार नौ मई को वसीम खान कोतवाली ऋषिकेश में तहरीर दी कि वो और उनकी पत्नी अपने-अपने कार्य के लिए अपने कार्यस्थल गये थे। दोपहर जब उनकी पत्नी घर वापस आयी तो जानकारी हुई कि अज्ञात चोरो द्वारा उनके घर की अलमारी में रखी नगदी व लाखो रुपयो के सोने के आभूषण चोरी कर लिये है।

दोपहर के समय हुई चोरी की उक्त घटना से तत्काल उच्चाधिकारीगण को अवगत कराया गया, जिस पर श्रीमान पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, महोदय के द्वारा चोरी के माल की बरामदगी एंव अज्ञात चोरो की गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। जिसके क्रम में पुलिस अधीक्षक, देहात महोदय एंव क्षेत्राधिकारी, ऋषिकेश महोदय के पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक, कोतवाली ऋषिकेश एंव एसओजी प्रभारी, देहात के नेतृत्व में घटना के अनावरण हेतु वर्दी एंव सादे वस्त्रो में अलग अलग पुलिस टीम गठित कर अज्ञात चोरो की गिरफ्तारी के प्रयास प्रारम्भ किये गये।

पुलिस टीम ने घटनास्थल के आसपास निजी घरांे, प्रतिष्ठानो, दुकानों के करीब 185 सीसीटीवी कैमरंो का बारीकी से अवलोकन करते हुए अहम साक्ष्य संकलित किये गये। सीसीटीवी से प्राप्त वीडियो/फोटो को घटना के अनावरण हेतु नियुक्त पुलिस टीम एंव मुखबिरो में प्रसारित कर उचित दिशा निर्देश निर्गत किये गये। घटना के दिन से एक माह पूर्व तक घटनास्थल के आसपास घूम रहे फड़, ठेली, रेहड़ी वालो के पूर्व इतिहास की जानकारी करते हुए गहन सत्यापन की कार्यवाही की गयी।

पूर्व में चोरी की घटना में प्रकाश में आये चोरो की जानकारी कर उनकी हाल की गतिविधियो की जानकारी की गयी। सर्विलांस टीम के माध्यम से संदिग्ध नम्बरों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी। सीसीटीवी कैमरों से मिली फुटेज के आधार पर पुलिस टीम को घटना स्थल के पास एक संदिग्ध क्रेटा गाडी घूमती हुई दिखाई दी, जिसके सम्बन्ध में जानकारी हेतु पुलिस टीम द्वारा आने जाने वाले मार्गों के सीसीटीवी कैमरों की फुटेजों को चेक करने के बाद पुलिस जाल बिछाना शुरू किया।

घटना में संलिप्त जिस सफेद क्रेटा कार व संदिग्ध व्यक्तियों को आप तलाश कर रहे हैं, वे बिलासपुर थाना दनकोर के रहने वाले हैं तथा चोरी किये गये सामान को बेचने के लिये मेरठ की तरफ जाते दिखाई दिये हैं, जिनके पास चोरी के रूपये व ज्वैलरी भी है। इस सूचना पर पुलिस टीम को तत्काल सम्बन्धित क्षेत्र को रवाना किया गया। पुलिस टीम को मेरठ बाईपास में बागपत फ्लाई ओवर से लगभग 200 मीटर आगे एक पेड़ के नीचे खड़ी एक संदिग्ध सफेद क्रेटा गाड़ी, जिसके पीछे यूपी-12-बीएल-4888 नम्बर की नम्बर प्लेट लगी थी, दिखाई दी।

पुलिस ने कार सवार तीन व्यक्तियों से पूछताछ करने पर उनके द्वारा अपना नामरू 1- इनाम खान 2- सोहेल खान तथा 3-समीर कुरैशी बताया। जिनकी तलाशी लेने पर तीनों व्यक्तियों के पास से आभूषण एंव नगद धनराशि बरामद हुई, जिसके सम्बन्ध में सख्ती से पूछताछ करने पर उनके द्वारा उक्त आभूषण व नकदी को ऋशिकेष आईडीपीएल क्षेत्र में एक घर से चोरी किया जाना स्वीकार किया गया। जिस पर अभियुक्तों को मौके से मेरठ बाईपास बागपत फ्लाईओवर के 200 मीटर आगे से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तों को समय से न्यायालय के समक्ष पेश किया जायेगा। अभियुक्तों के आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here