उत्तराखंड: यहां कई दिनों बाद कोरोना से नहीं हुई कोई मौत, ब्लैक फंगस के 20 मरीज भर्ती

हल्द्वानी: हल्द्वानी का सुशीला तिवारी अस्पताल अस्पताल कुमाऊं का सबसे बड़ा अस्पताल है। केवल कुमाऊं ही नहीं। यहां बड़ी संख्या में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोग भी इलाज कराने आते हैं। अस्पताल कोविड सेंटर बनाया गया है। पहली लहर से अब तक कोरोना का इलाज जारी है। इस अस्पताल में दूसरी लहर में रोजाना होेनेन वाली मौतों का आंकड़ा काफी अधिक था, लेकिन आज कई दिनों बाद अस्पताल में कोई मौत नहीं हुई है, जो सकून देने वाली खबर है।

अस्पताल में ब्लैक फंगस के 20 मरीज भर्ती हैं, जिनमें से 19 पॉजिटिव और 1 संदिग्ध मरीज है। सभी का इलाज किया जा रहा है। अस्पताल में 117 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है। सुशीला तिवारी अस्पताल में 12 आईसीयू और 312 ऑक्सिजन बेड खाली हैं। अस्पताल में भर्ती 28 मरीजों की हालत गम्भीर और 14 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की हालत बेहद नाजुक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here