उत्तराखंड : अस्पताल पहुंची नाबालिग, बाथरूम में बच्चे का जन्म और फिर कूड़े में फेंक दिया

 

पिथौरागढ़: पिथौरागढ़ में एक ऐसा मामले सामने आया है, जिसने सबको चैंका दिया। अस्पताल में पेट दर्द का इलाज कराने पहुंची एक नाबालिग ने जिला अस्पताल के बाथरूम में बच्चे को जन्म दिया। इसके बाद खुद ही बच्चे को उठाकर ले गई और कूड़ेदान में फेंक दिया। ब्लीडिंग के चलते वह अस्पताल में भर्ती हो गई।

मामला संदिग्ध देख अस्पताल प्रबंधन ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की तो पता चला कि बच्चा कूड़ेदान में पड़ा है। परिजनों की ओर से मामले की रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई है। पुलिस ने स्वतः संज्ञान देेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। कोतवाल रमेश तनवार ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र की एक युवती पेट दर्द की शिकायत लेकर जिला चिकित्सालय पहुंची। जिला चिकित्सालय में चिकित्सक को दिखाने से पूर्व ही युवती ने बाथरूम में एक बच्चे को जन्म दे दिया।

बच्चे की मौत हो गई। युवती ने अस्पताल में खुद को विवाहित बताया। चिकित्सकों ने संदेह के आधार पर पुलिस को मामले की जानकारी दी। पुलिस ने अस्पताल पहुंचकर बच्चे का शव कूड़ेदान से निकलवाया। युवती द्वारा बच्चे की स्वाभाविक मौत बताई और कोई जानकारी नहीं दी। इस पर शव परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस ने इस बीच युवती के अविवाहित होने का पता लगा लिया। पुलिस ने गांव पहुंचकर दफनाए गए शव के बच्चे को वापस निकलवाया और उसका पोस्टमार्टम कराया। मामला बुधवार देर रात का है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here