उत्तराखंड से बड़ी खबर : धारचूला में भूस्खलन से सात घर जमींदोज, 6 लापता, 2 शव बरामद

पिथौरागढ: भारी बारिश का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। प्रदेशभर से भूस्खलन की खबरें सामने आ रही हैं। धारचूला के जुम्मा में भीषण भूस्खलन से सात घर जमींदोज हो गए हैं। बताया जा रहा है कि 6 लोग मदबे में दफन हो गए हैं।

जानकारी के अनुसार आपदा नेपाल में बादल फटने से आई है। आपदा से आंतरिक मार्ग के साथ धारचूला तपोवन में एनएचपीसी के दो आवासीय परिसर काली नदी में समा गए हैं। फंसे लोगों को निकालने के लिए राहत बचाव कार्य चल जारी है। रविवार को जुम्मा में भूस्खलन हो गया। इससे छह घर ध्वस्त हो गए। घटना में छह लोगों के लापता होने की आंशका जताई जा रही है।

सूचना मिलने के बाद बचाव और राहत दल घटनास्थल को रवाना हो गया है। लेकिन आंतरिक मार्ग ध्वस्त होने से रेस्क्यू टीम के लिए गांव तक पहुंचना मुश्किल हो गया है। घटना के तीन घंटे बाद भी प्रशासन की टीम घटनास्थल तक नहीं पहुंच सकी है। वहीं नेपाल में बादल फटने के बाद काली नदी ने विकराल रूप धारण कर लिया है।

खतरे को देखते हुए प्रशासन ने तट पर बसे लोगों को घर छोड़ सुरक्षित स्थान पर जाने को कहा है। मौसम विभाग ने विभाग के अनुसार आज नैनीताल, पिथौरागढ़ जिलों में कहीं कहीं तीव्र बौछार के साथ भारी बारिश का येलो अलर्ट है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here