उत्तराखंडः ऑनलाइन बनाया पास और हो गए फुर्र, कोविड केयर सेंटर में थे भर्ती, पुलिस ने यहां पकड़ा

पिथौरागढ़: जिले के मुनस्यारी से एक हैरान करने वाली खबर आई है। यहां कोविड केयर सेंटर में भर्ती पति-पत्नी ने कोविड केयर सेंटर कर्मचारी और अधिकारियों को चकमा दिया और फरार हो गए। दोनों ने पहले आॅनलाइन कोविड पास बनाया और फिर आॅनलाइन ही टैक्सी भी बुक की और हल्द्वानी के लिए चल दिए। जैसे स्वास्थ्य कर्मियों को उनके फरार होने की जानकारी मिली। उन्होंने तत्काल राजस्व पुलिस को फोन कर पूरी जानकारी दे दी।

नायब तहसीलदार भुववन वर्मा और कोविड केयर सेंटर के नोडल अधिकारी मोहम्मद खालिद के स्कूटी लेकर फरार कोरोना पाॅजिटिव पति-पत्नी को खोजने निकल पड़े। उनको एक व्यक्ति ने बताया कि टैक्सी थल की ओर गई है। इसी आधार पर जगह जगह पुलिस के बैरियर लगवा दिए गए। काफी दौड़भाग के बाद दंपति को गिनी बैंड पर टैक्सीरूकवा कर उन्हें पकड़ा जा सका और फिर से कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया।

जानकारी के अनुसार रालम गांव निवासी कोरोना संक्रमित एक दंपति को बीते मंगलवार से टीआरसी के कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया था। गुरुवार सुबह पति-पत्नी स्वास्थ्य कर्मियों को चकमा देकर फरार हो गए। दोनों के एक वाहन में बैठकर थल की तरफ जाने की जानकारी मिलते ही क्वीटी में बैरियर लगा दिया गया। उन्हें पकड़ने के लिए भी पुलिस कर्मियों को भी पीपीई किट पहनाई गई। तब कहीं जाकर फिर से कोविड केयर सेंटर पहुंचाया गया।

पति-पत्नी ने बताया कि वे हल्द्वानी जाना चाहते थे। संक्रमित दंपति ने कोविड सेंटर से ही हल्द्वानी जाने के लिए ई-पास बनवा लिया था। यही नहीं उन्होंने केयर सेंटर से ही टैक्सी भी आन लाइन बुक कर ली। लेकिन अंत में उनके मंसूबे कामयाब नहीं हो सके। अब प्रशासन दोनों के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत मुकदमादर्ज करने की तैयारी में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here