उत्तराखंड : 8000 हजार रुपये की रिश्वत लेते लाइनमैन रंगे हाथों गिरफ्तार

उधमसिंह नगर : बुधवार को ऊर्जा निगम में संविदा पर कार्यरत लाइनमैन को 8000 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए गदरपुर में विजिलेंस की टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया। विजिलेंस टीम ने लाइनमैन लालदेव से पूछताछ की और रिश्वत के पैसे लेकर उसे साथ हल्द्वानी ले गई।

मिली जानकारी के अनुसार ग्राम बकैनिया निवासी जयप्रकाश पुत्र भगनाथ पांडेय ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर संविदा पर कार्यरत लाइनमैन लालदेव के खिलाफ रिश्वत मांगने की शिकायत की थी। उन्होंने शिकायत करते हुए बताया खा रि उन्होंने पिछले साल मई में ट्यूबवेल में  बिजली कनेक्शन लेने के लिए विभाग में आवेदन किया था। लेकिन विभाग आनाकानी कर रहा था। काफी समय बाद 45 हजार रुपये का इस्टीमेट बनाया गया जिस पर उन्होंने आपत्ति जताई। 6 अप्रैल 2022 को 17700 रुपये का इस्टीमेट बनाया गया। उन्होंने 7 अप्रैल को इस्टीमेट के पैसे जमा कर दिए। 29 अप्रैल को ट्रांसफार्मर खेत में रख दिया गया लेकिन बिजली का कनेक्शन नहीं किया गया।

जयप्रकाश ने शिकायत की कि बार बार अनुरोध के बाद भी जब कनेक्शन नहीं किया गया तो उन्होंने सीएम पोर्टल पर शिकायत की और विजिलेंस टीम से संपर्क किया। विजिलेंस टीम ने लाइनमैन लालदेव और किसान जयप्रकाश का फोन सर्विलांस पर लगाया था। शिकायत सही पाए जाने पर विजिलेंस ने बुधवार को बकैनिया में जयप्रकाश के घर आए और उसके घर के आसपास घूमते रहे और लाइनमैन लालदेव के आने का इंतजार करते रहे। करीब 5 बजे लालदेव ग्राम बकैनिया जयप्रकाश के घर पहुंचा। जैसे ही जयप्रकाश ने लालदेव को रंग लगे हुए नोट पकड़ा, उसी समय टीम ने उसे रंगे हाथों धर दबोचा। यह देख लालदेव के होश उड़ गए।  विजिलेंस टीम ने लालदेव के रिश्वत के पैसे कब्जे में लेते हुए उसे हल्द्वानी ले गए।

लाइनमैन लालदेव का आरोप है कि उसे प्लानिंग के तहत फंसाया गया है जबकि वह मीटर का कनेक्शन करने आया था और उसे जानबूझकर हाथ में पैसे देकर फंसाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here