उत्तराखंड : पिथौरागढ़ में बनी झील, तीन गांवों पर मंडराया खतरा

पिथौरागढ़: भारी बारिश का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार हो रही बारिश के कारण लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई जगहों से नुकसान की खबरें भी लगातार सामने आ रही हैं। पिथौरागढ़ जिले से एक चिंता बढ़ाने वाली खबर आ रही है। मुनस्यारी में विकासखंड के हरकोट मालोपाती में हरकोट और रीठा गाड़ के उफान से पहाड़ी का बढ़ा हिस्सा दरकने से नदी का प्रवाह पूरी तरह से थम गया है।

इसके चलते वहां करीब 300 मीटर से अधिक लंबी झील और 10 मीटर से ऊंची झील बनने से नीचे बसी आबादी पर खतरा मंडरा रहा है। इस झील के कारण पांच से अधिक गांवों में आपदा का खतरा मंडरा रहा है। हरकोट मालोपाती के पास हरकोट और रीठा गाड़ प्रवाहित होती हैं। दोनों मानसूनकाल में पूरे उफान पर हैं। शनिवार सुबह दोनों नदियों के संगम पर पहाड़ी का एक बढ़ा हिस्सा दरकने से उनका प्रवाह रुक गया।

नदियों का प्रवाह थमने से यहां 300 मीटर से अधिक लंबी और 10 मीटर से ऊंची झील बन गई है। बारिश के साथ ही झील का जलस्तर बढ़ता जा रहा है। इससे मदकोट, भदेली, मालोपाती, रुमाल, खेत गांव सहित गोरीछाल के तटीय इलाकों की 3 हजार की आबादी दहशत में है। झील बनने की सूचना मिलने से प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here