तो क्या 44 साल बाद भाजपाई हो जाएंगे किशोर? भाजपा से नजदीकी हाईकमान को नहीं आई पसंद

देहरादून : विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने सख्ती दिखाते हुए पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को सभी पदों से हटा दिया है जिससे कांग्रेस में खलबली मच गई है। बता दें कि बीते दिनों वो चोरी छुपे भाजपा नेता अजय से मिले थे । किशोर की ये नजदीकी भाजपा को पसंद नहीं आई और उन्हें बीते दिन सभी पदों से हटा दिया गया है। बता दें कि किशोर को इससे पहले भी कई बार चेतावनी दी गई थी।

कांग्रेस हाईकमान ने अपने इस बड़े फैसले से सबको चौंका दिया. इससे पहले किशोर वीडियो जारी कर और मीडिया के सामने अपनी नाराजगी पार्टी के प्रति जाहिर कर चुके हैं। उन्होंने साफ कहा कि पार्टीे में उनको तवज्जों नहीं दी जाती। किशोर की भाजपा में जाने की अफवाहे पहले से ही उड़ रही थीं लेकिन उन्होंने साफ किया था कि वह किसी भी सूरत में कांग्रेस छोड़ बीजेपी ज्वाइन नहीं करेंगे। कहा था कि कांग्रेस में रह कर ही वह टिहरी से ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। कांग्रेस छोड़ भाजपा में जाने की बातों को उन्होंने अफवाह करार दिया।

तो क्या भाजपाई हो जाएंगे किशोर?

44 साल से वो कांग्रेस से जुड़े हैं औऱ पार्टी के लिए काम कर रहे हैं लेकिन अब खबर है कि वो भाजपा ज्वाइन करने जा रहे हैं। सवाल उठ रहा है क्या 44 साल बाद कांग्रेस में रहकर सेवा करने के बाद किशोर भाजपाई हो जाएंगे? खबर है कि वो भाजपा ज्वाइन करने जा रहे हैं। अब पार्टी ने सभी जिम्मेदारियां वापस ले ली है ऐसे में उनके मन में भी बात उठ रही होगी कि अब पार्टी में उनका क्या काम?

आपको बता दें कि किशोर उपाध्याय साल 1978 से कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। पार्टी के साथ उनका लंबा साथ रहा है। वर्ष 2002 और वर्ष 2007 में वे टिहरी से विधायक रहे। वर्ष 2012 में वे टिहरी से चुनाव हार गए थे। 2017 में वे अपनी परंपरागत सीट टिहरी को छोड़ कर चुनाव लड़ने देहरादून सहसपुर सीट पर पहुंचे। यहां से भी उन्हें हार मिली। 2014 में उन्हें पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया। वे 1991 से ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सदस्य भी रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here