उत्तराखंड: स्कूटी नहीं दिलाई तो लगा ली फांसी, बुझ गया घर का चिराग

श्रीनगर: यहां कक्षा 9 में पढ़ने वाले छात्र ने स्कूटी नहीं दिलाने पर जान दे दी। छात्र ने अपने घर के दूसरे कमरे में फांसी लगा ली। बाद में परिजन उसको अस्पताल लेकर गए। यहां पर डॉक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया।

बताया जाता है कि मृतक घर का इकलौता बेटा था। सीनियर सब इंस्पेक्टर रणवीर चन्द्र रमोला ने बताया कि न्यू डांग निवासी प्रदीप भंडारी के 15 साल के बेटे दिव्यांशु भंडारी ने परिजनों की मामूली डांट पर घर पर ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

उन्होंने बताया कि वह अपनी दादी से स्कूटी दिलाने की जिद कर रहा था। स्कूटी की जिद करते-करते जब परिजनों ने डांटा तो दूसरे कमरे में पहुंचकर उसने आत्म हत्या कर ली। उन्होंने कहा कि वह शिशु मंदिर श्रीनगर में नौवीं कक्षा में पढ़ता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here