उत्तराखंड : हवाई साबित हुए सरकारी दावे, डेढ़ महीने से बंद है सड़क, कोई नहीं ले रहा सुध

चमोली: लगातार बारिश के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पहाड़ी जिलों में भारी बारिश ने जनजीवन को प्रभावित किया है। स्थिति यह है कि गांवों को मुख्यालय से जोड़ने वाले कई संपर्क मार्ग बंद हैं। चमोली जिले में स्थिति यह है कि गांव की सड़क पिछले डेढ़ महीने से बंद है, लेकिन आज तक किसी ने सड़क को खोलने की जहमत नहीं उठाई।

लगातार बारिश के कारण मींग गधेरा-मींग-विनायक-बैनोली मोटर मार्ग जगह-जगह ध्वस्त होकर यातायत के लिए ठप्प पड़ा हुआ है। भारी बारिश ने ग्रामीणों की कृषि भूमि भी मलवे में तब्दील कर दी है। जिससे लोगों ने पीएमजीएसवाई की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि सड़क तो बनी परंतु सड़क के पहाड़ी और कृषि भूमि की तरफ सुरक्षा दीवारों का निर्माण नहंी किया, जिस कारण पहली ही बारिश ने पूरी सड़क तहस-नहस की दी है।

मींग गांव में हुई क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों की आपात बैठक में लोगों ने बताया कि बार बार शासन प्रशासन को सड़क के खस्ताहाल की सूरत के बारे में अवगत कराया जाता रहा है। परन्तु कहीं भी उनकी सुनवाई नहीं हुई। इससे परेशान हो कर आज उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों की बैठक बुलाई है।

जिसमें उपजिलाधिकारी के माध्यम से शासन-प्रशासन को एल्टीमेटम दिए जाने का निर्णय लिया गया है। स्थानीय लोगों ने यह भी कहा कि यदि उसके बाद भी सड़क यातायात के लिए सुचारू रूप से नहीं बनाई जाती है। सुरक्षा दीवारों को निर्माण नहीं किया जाता है, तो ग्रामीण उग्र आंदोलन करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here