उत्तराखंड: पूर्व CM त्रिवेंद्र बोले: मैं थक गया था, इसलिए तीरथ को CM बनाया गया

 

काशीपुर: पूर्व सीएम और वर्तमान सीएम तीरथ सिंह रावत ने कोरोना जांच घोटाले में मामले से पल्ला झाड़ लिया था। हालांकि बाद में सरकार ने मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए थे। मामले की फिलहाल जांच चल रही है। काशीपुर भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे। इस दौरान पार्टी में गुटबाजी के सवालों को नकारते हुए कहा कि टीएसआर पहले भी थे अब भी हैं और आगे भी रहेंगे। सरकार में नेतृत्व परिवर्तन करने की वजह पर उन्होंने कहा कि मैं काम करते थक गया था इस लिए नए उर्जावान व्यक्ति को लगाया गया है।

उन्होंने कहा कि कुछ मतभेद भी होगा तो, उसे सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने तीरथ सरकार के कार्यकाल की तारीफ करते हुए कहा कि वह बेहतर काम कर रहे हैं और आगे उन्हें और समय मिलेगा, जिससे वह सरकार की अच्‍छी छाप छोड़ सकेंगे। भाजपा युवा मोर्चा की ओर से रामलीला मैदान में आयोजित रक्तदान शिविर के आयोजन में पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिह रावत ने कहा कि भाजपा सरकार को चार साल से ज्यादा हो गए, इस दौरान समाज के कई अहम कदम उठाए गए।

इसके साथ हमने पर्यावरण संरक्षण के लिए कई योजनाएं अमल में लाई हैं। आने वाले समय में ग्लोबल वर्मिंग की चुनौतियों से निपटने के लिए के लिए सरकार पूरी तरह सजग है। जनता की मूलभूत आवश्कताओं पानी काऔर बिजली देने के काम हमारी सरकार की तरफ से किया गया है। किसान सम्मान निधि का लाभ हर किसान तक पहुंचा, वहीं अटल आयुष्मान योजना कोविड काल में संजीवनी साबित हुई है।

भ्रष्टाचार के मामलों लेकर उन्होंने कहा कि हमारी सरकार शुरू से ही ऐसे मामलों को लेकर सचेत रही है। इसके खिलाफ हमने बड़ी जंग लड़ी है। एनएच घोटाला इसका प्रमाण है, जिसमें कई आइएस व पीसीएस अधिकारी तक गिरफ्तार हुए। आगे भी भ्रष्टाचार के खिलाफ यह वार जारी रहेगा। सरकार में त्रिवेंद्र सरकार के निर्णयों को पलटे जाने के मामले में उन्होंने कहा कि यह सरकार और पार्टी के विवेक पर होता है कि वह क्या निर्णय लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here